सुमन को लंड का मजा चखाया

हैल्लो दोस्तों, मुझे मेरे फ्रेंड नवीन ने चोदन डॉट Antarvasna कॉम के बारे में बताया और आज में आप सबको बताना चाहता हूँ कि मैंने किस तरह से अपनी गर्लफ्रेंड सुमन के साथ सेक्स किया? और मुझे नहीं पता किसी को यह रियल स्टोरी अच्छी लगे या ना लगे, लेकिन उसे जरूर अच्छी लगेगी जिसने किसी से सच्चा प्यार किया हो। ये बात नवम्बर 2013 की है, जब मैंने सुमन को अपने घर पर बुलाया था, लेकिन उसने आने से मना कर दिया और बोली कि में घर से बाहर नहीं निकल सकती, लेकिन फिर भी कोशिश करके वो मुझसे मिलने आई। मैंने उस दिन से करीब 2 महीने पहले उसे सिर्फ़ किस किया था और आज का दिन में ऐसे ही नहीं गँवाना चाहता था। मेरे घर में सब लोग थे, तो मैंने सोचा कि हम लोग कहाँ जायें? ताकि कोई हमें परेशान ना करे। फिर तभी में अपने किराएदार के पास गया और वहाँ जाकर कहा कि आप प्लीज़ थोड़ी देर के लिए कहीं बाहर जा सकते है, तो वो मान गया और चला गया।

अब तो सोने पे सुहागा था। फिर में और सुमन अंदर कमरे में चुपके से गये और किसी को पता नहीं लगने दिया कि हम ऊपर कमरे में है। बस फिर क्या था? मैंने जैसे ही कमरा बंद किया, तो वो ऐतराज करने लगी कि कोई आ ना जाए, लेकिन मैंने उससे कहा कि चिंता मत करो अब कोई नहीं आएगा। फिर मैंने करीब आधे घंटे तक उससे बातें की और बातें करते-करते ही मैंने उसका हाथ पकड़कर चूम लिया, तो उसने कोई विरोध नहीं किया। फिर क्या था? मैंने अपने होंठ उसके होंठो पर रख दिए और उसको जबरदस्त तरीक़े से चूमता रहा तो मुझे बहुत अच्छा लगा।

फिर मैंने उसे किस करते-करते ही लेटा दिया और फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपक गये। फिर मैंने उसके बूब्स को दबाना शुरू किया, तो उसने थोड़ा बहुत विरोध किया, लेकिन फिर कुछ नहीं कहा। फिर मैंने उसका दुपट्टा हटाया और उसका सूट ऊपर उठाकर निकाल दिया। अब वो मेरे सामने आधी नंगी थी। फिर मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और फिर उसके बूब्स को चूमता रहा, तो इतने में उसने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया। अब में समझ गया था कि मामला सेट है तो मैंने बिना कोई देरी किए अपनी शर्ट और फिर अपनी पेंट उतार दी। अब में उसके सामने सिर्फ़ अंडरवेयर में था। फिर मैंने उसकी सलवार भी उतार दी और फिर उसकी पेंटी भी उतार दी। फिर उसने भी मेरा अंडरवियर खुद उतार दिया। अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे और अब मेरा लंड देखकर तो वो घबरा गयी थी, क्योंकि उसने पहले किसी भी जवान मर्द का लंड नहीं देखा था। फिर मैंने फटाफट से उसकी चूत पर अपना हाथ फैरना शुरू कर दिया और उसकी चूत में अपनी एक उंगली अंदर बाहर करने लगा।

Antarvasna Hindi Sex Story  आंटी ने लंड का बुरा हाल बनाया

अब वो तो पूरी की पूरी गर्म हो चुकी थी और अब वो मेरे लंड को ऊपर नीचे कर रही थी। अब वो दीवार के सहारे थोड़ा झुककर बैठ गयी थी। फिर मैंने उससे कहा कि मेरे ऊपर आ जाओ, तो वो उठी और सीधी मेरे ऊपर आकर बैठ गयी। फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत फैलाई तो उसने एक जबरदस्त सिसकारी ली। फिर उसने मेरा लंड पकड़ा, तो मैंने उसकी चूत को फैलाते हुए उसमें अपना लंड डालना शुरू किया। अब वो धीरे-धीरे मेरे ऊपर बैठ रही थी। फिर जैसे ही मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया तो वो रुक गयी, तो मैंने उसे जबरदस्ती नीचे किया। अब करीब मेरा 5 इंच लंड उसकी चूत में चला गया था। फिर वो ज़ोर से चिल्लाई, लेकिन मैंने उसके होंठ पर अपना होंठ रख दिया, तो उसने उठने की कोशिश की, लेकिन मैंने उसे दबाकर रखा और अब वो छटपटा रही थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  दोस्त की माँ और बहन की चुदाई

फिर मैंने उसे लेटा दिया और में उसके ऊपर चढ़ गया। फिर मैंने जैसे ही शॉट लगाने शुरू किए, तो उसके तो सारे विकेट ही गिरने लगे और वो कहने लगी कि और ज़ोर-ज़ोर से और चोदो, फाड़ डालो मेरी चूत को उईईईईईइ माँ, आहह, आआहह, म्‍म्म्ममममम, उफफफ, म्म्ममम और ज़ोर से और फिर वो करीब 10 मिनट के बाद झड़ गयी, लेकिन में आउट नहीं हुआ। फिर मैंने और ज़ोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए। अब उसकी चूत से खून भी निकल रहा था, लेकिन मैंने उसकी परवाह नहीं की। फिर में जमीन पर लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी। अब वो उछल-उछलकर अपनी चूत में मेरा पूरा लंड ले रही थी, अब उसको भी बहुत मज़ा आ रहा था। फिर करीब 25 मिनट के बाद में भी झड़ गया और फिर हम दोनों आराम से बैठ गये। फिर में उसकी चूत में उंगली देता रहा और वो मेरे लंड को सहलाती रही। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब मेरा लंड फिर से 5 मिनट के बाद खड़ा हो गया था तो अबकी बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसके पीछे आ गया और फिर मैंने जैसे ही उसकी बॉल पर चौका मारा मेरा मतलब उसकी चूत में लंड डाला, तो वो एकदम से चिल्लाने लगी, तो मैंने जल्दी से मेरा लंड बाहर निकाला। फिर वो बोली कि इस तरह मत डालो, तो मैंने चूत में लंड डालने का तरीक़ा सोचा, क्योंकि ऐसे तो बहुत दर्द हो रहा था। फिर मैंने वही कमरे में से सरसों का तेल उठाया और उसकी चूत में मलता रहा और वो मेरे लंड पर मलती रही। अब हम दोनों ने एक दूसरे को बिल्कुल चिकना कर दिया था। फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और थोड़ा तेल अपने हाथ में लिया और थोड़ा-थोड़ा लंड डालता रहा और ऊपर से तेल की बूंदे गिराता रहा। अब बस धीरे-धीरे उसकी गांड में आधे से ज़्यादा मेरा लंड जा चुका था। फिर में थोड़ी देर तक आधे ही लंड से काम चलता रहा। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने तेल उठाया और उसको लेटाकर उसकी चूत को उसी के हाथों से फैलवाकर उसकी चूत में जबरदस्त तेल लगा दिया और फिर उसे घोड़ी बनाया तो एक ही झटके में मेरा 7 इंच का लंड उसकी चूत में जा घुसा। उसने फिर से चिल्लाने की कोशिश की, तो मैंने उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिए।

Antarvasna Hindi Sex Story  बहन को वीडियो गेम खेलना सिखाया

फिर उसने आगे बढ़कर मेरा लंड बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन में भी पीछे से और ऊपर चढ़ गया, तो वो थोड़ी देर तक फिर से झटपटाने लगी, लेकिन मैंने थोड़ी देर तक उसकी चूत में ऐसे ही अपना लंड डाले रखा। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू किए। अब वो भी मेरा साथ देने लगी। अब में सीधा जमीन पर लेट गया था, तो वो मेरे ऊपर आई और अपनी दोनों टांगे फैलाकर बैठने लगी। फिर मैंने उसकी चूत का छेद और खोला और वो मेरा लंड पकड़कर बैठ गयी। अब उसने भी इस बार एक ही बार में मेरा पूरा लंड ले लिया था। फिर मैंने ऐसे ही करीब 10 मिनट तक उसकी चूत मारी और फिर वो भी झड़ गयी और में भी झड़ गया और एक दूसरे से चिपककर थोड़ी देर तक लेटे रहे और एक दूसरे को किस करते रहे। फिर थोड़ी देर के बाद हमने अपने-अपने कपड़े पहन लिए और फिर हमें जब भी कोई मौका मिला तो हमने खूब चुदाई की और खूब मजा किया ।।

धन्यवाद …