शराबी दोस्त की मस्त बीवी

हैल्लो दोस्तों, में फिर से अपने अनुभव के साथ आ गया हूँ। यह बात अभी 2 महीने पहले की ही है और मुझे चोदने की बुरी आदत हो गई है। में जब तक एक बार चुदाई ना कर लूँ मुझे नींद ही नहीं आती है। मेरी वाईफ भी एकदम ठंडी पड़ी रहती है और उसे उकसाने के बाद बड़ी मुश्किल से वो करने देती है। दोस्तों आप लोग मेरी समस्या समझ रहे होंगे कितनी विकट समस्या है और ऊपर से चुदाई का आलम, एक तो मदहोशी का आलम और ऊपर से लंड ने गजब ढाई हो, यारो मेरी तबीयत का मत पूछो, मुझे चुदाई की कितनी याद आती है? में अपने फनफनाते लंड को कैसे दबाता हूँ? मैंने कई बार अपने हाथों से ही रगड़कर ही उसकी जान निकाली है, लेकिन जब जिसकी जरूरत हो और खुदा से दिल से माँगो तो वो मिल ही जाती है और मेरे साथ भी ठीक यही हुआ था। मेरे साथ का मेरा एक घनिष्ठ मित्र अपने परिवार के साथ अचानक से आ गया था, उन्हें अपनी पत्नी को लखनऊ लेकर जाना था, लेकिन उनके बच्चे की तबीयत खराब हुई, तो बीच रास्ते में ही उन्होंने सोचा कि अनिल के घर चलते है वैसे भी राकेश को मेरे यहाँ आने में दिक्कत नहीं होती है, वो ड्रिंक करने का शौकीन है और शाम 8 बजे से ही बोतल का ढक्कन खुल जाता है, लेकिन उसकी बुराई ये है कि 3-4 पैग के बाद ही उससे संभलती नहीं है और वो बेहोश हो जाता है। यह हुआ भी है, जब उसे संभालना पड़ा। अब समय ज़्यादा हो गया था तो मैंने अपनी वाईफ को बोला कि तुम बच्चों के साथ सो जाओ। तो वो मेरे और राकेश के बच्चों को लेकर सोने चली गई।

अब इधर में और राकेश की वाईफ राकेश को सँभालते हुए आपस में बातें करने लगे थे, ये राकेश भी जब साले को हजम नहीं होती तो इतनी क्यों पी लेता है? तो वो बोली कि इनका तो रोज का यही हाल है, में बच्चे को संभालू या इन्हें। फिर मैंने कहा कि तब तो बड़ी दिक्कत होती होगी। फिर वो बोली कि हाँ रात में इनसे बात किए हुए कई दिन गुजर जाते है। फिर मैंने घूमकर कहा कि तब तो रात के काम भी नहीं हो पाते होंगे। फिर उसने आहें भरते हुए हाँ कहा। फिर तब मैंने बड़ी हिम्मत करके उससे कहा कि तो आप प्यासी रह जाती होगी, अगर आप कहे तो में आपकी मदद करूँ, तो वो मुस्कुरा दी। अब उसकी आँखों से इशारा मिलते ही में उसके पास आ गया और उसके होंठो पर एक किस जड़ दिया। अब उसकी आँखों में खुला निमंत्रण था।

Antarvasna Hindi Sex Story  मेरी कसम टूट गई

अब में जोश में आ गया था और उसके होंठो को अपने मुँह में भरकर चूसने लगा था और जोरो से चूसा और उधर अपने हाथों से उसके बूब्स को दबाए जा रहा था। फिर में उसके बूब्स दबाते-दबाते उसकी चूत की तरफ अपना एक हाथ ले गया और उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाल दी, उसकी चूत गजब की गीली हुई थी और वो खुद मदहोश हुए जा रही थी। अब तवा एकदम गर्म था और अब में भी पूरे जोश में था, अब बस मेरा मन कर रहा था कि अपने लंड को निकालकर जल्दी से उसकी चूत में डाल दूँ। फिर उस रात मैंने 3 बार उसकी चुदाई की, में आपको धीरे-धीरे बताता हूँ। फिर मैंने जैसे ही उसके होंठो को छोड़ा, तो वो सिसकियाँ मारने लगी, जान जल्दी से चोद दो, में बहुत बैचेन हूँ। फिर मैंने जल्दी से उसके कपड़े उतार दिए और अपने भी उतार दिए। अब में अपने मुँह में उसके बूब्स के निपल डालकर चूसने लगा था। अब में बस खा जाने वाले अंदाज में चूसे जा रहा था और वो सिसकारियाँ मारे जा रही थी आहह जान और ज़ोर से चूसो, मज़ा आ गया जान, ऐसा तो राकेश ने कभी नहीं किया।

फिर मैंने अपना लंड उसके हाथ में दे दिया, तो उसके हाथ में मेरा मोटा लंड पकड़ते ही वो चीख गई अरे इतना मोटा लंड कैसे घुसेगा? अब वो मस्त हुए जा रही थी और अब इधर मेरा सब्र भी ख़त्म हुए जा रहा था। फिर में उसके ऊपर आ गया और अपने लंड को उसकी चूत से सटाया तो एक धक्का देते ही मेरा पूरा सुपाड़ा उसकी चूत में अंदर घुस गया। फिर वो जोर से चीखी, तो मैंने जल्दी से उसका मुँह दबा दिया और बोला कि चिल्लाओ मत, सब जाग जाएगें। फिर वो आहिस्ते से अपना दर्द बया करने लगी आआआ जान, मार दिया तूने। अब में धीरे-धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा था। फिर थोड़ी देर में ही वो मस्ती की आहें भरने लगी कि मेरे राजा जमकर चोदो, तुम्हारा लंड तो बड़ा ही मस्त है, आज जमकर चोदो, आआआअ जोर से मेरे राजा और चोदो, आआआहह, आआआआ।

Antarvasna Hindi Sex Story  मम्मी बन गयी अंकल आंटी की गुलाम

अब वो भी नीचे से अपनी गांड उछाल-उछालकर चुदवा रही थी और में धक्के लगाए जा रहा था। फिर तभी वो बोली कि मेरे राजा मेरी चूत में तुम्हारा पानी निकल रहा है, अब वो भी झड़ रही थी आआआआआ जान तुम्हारा लंड बहुत मस्त चुदाई करता है, हाईईईईईईईईईईईई और ये कहते हुए में उसकी चूत में ही झड़ गया। फिर हम दोनों चिपककर लेट गये, अब उसने मुझे कसकर चिपका लिया था। फिर उसने बताया कि आज बहुत दिनों के बाद उसने चुदाई का आनंद लिया है, इतनी मस्ती उसे बस सुहागरात वाले दिन ही आई थी और फिर उसके बाद वो कभी संतुष्ट नहीं हो पाई। अब तो वो खुलकर बातें किए जा रही थी। अब उसने फिर से मेरे लंड को पकड़ लिया था, तो में बोला कि क्या हुआ? अभी मन नहीं भरा क्या? तो उसने कहा कि नहीं और चुदाई करो ना। अब मुझे उसको चोदे हुए अभी 15 मिनट ही हुए थे। अब उसका मन फिर से करने लगा तो तभी मैंने उसकी टांगो को चौड़ा किया और उसकी चूत को चाटने लगा। फिर वो बोली कि ये क्या कर रहे हो? ऐसा भी करते है क्या? तो में समझ गया कि उसने आज तक चूत चटाई का मज़ा नहीं लिया है। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब में जोर-जोर से उसकी चूत को चाटने लगा था। अब वो मादकता में डूबने लगी थी, चूत वो बला है जो अच्छे अच्छो का मन हिला दे, बूढों को भी जवान बना दे, बुझे लंड में भी जान डाल दे। अब यही हाल मेरे झड़े हुए लंड का हुआ था। अब मेरा लंड फिर से फनफनाकर खड़ा हो गया था। अब में उसकी चूत को जोर-जोर से चाट रहा था। अब उसके मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थी आआआआअहह, आह, नहीं मेरी जान, आआआआ जान ऐसे क्या आआआआआआआ, कर आाआआआआ रहे हो? अब उसने मेरे बालों को कसकर पकड़ लिया था और वो बोले जा रही थी कि बहुत मजा आ रहा है, आअहह मेरी इतनी मस्त चुदाई किसी ने नहीं की थी। फिर मैंने अपनी जीभ को जैसे ही उसकी चूत में घुसाया, तो वो चीख उठी आह मार डाला और मेरे बालों को ज़ोर से नोच लिया, मेरी चूत का तो यही बाजा बजा दिया, चूसो राजा और ज़ोर से, थक गये हो तो बताओ में ऊपर आकर इस भोसड़ी को चोद दूँ, ओह अब में नहीं हाईईईईईईईईईईईई, रुकककककककक सकती, ओह, आहह लो में आ गइईई, ओह राजा तुम भी आ जाओ, अब वो अपनी मस्ती में बोले जा रही थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  तलाकशुदा की जवानी की आग

अब में समझ गया था कि अब इसकी चूत में लंड डालना पड़ेगा, लेकिन मुझे इस बार जल्दी नहीं थी। अब में उसे अपना लंड चुसाना चाह रहा था। अब मुझे इतना अंदाजा लग गया था कि जब राकेश ने कभी इसकी चूत नहीं चूसी तो साले ने अपना लंड भी नहीं चुसाया होगा, ये अभी मस्त है तो मस्ती में पूरा लंड चूस लेगी। फिर मैंने उससे अपना लंड चूसने को बोला तो पहले तो वो नहीं मानी, लेकिन जब मैंने उसे बताया कि अभी और मस्ती आएगी, तो वो मेरे लंड चूसने को राज़ी हो गई और बोली कि तुम्हारा लंड बड़ा जानदार है, बहुत अच्छा लग रहा है, हाईईईईईईईईईईईईईई, हाईईईईईई और ज़ोर से मेरे राजा और ज़ोर से, मेरे मुँह को ही चोद दोगे क्या? अपने लंड से, आह, ओह, आहह। अब वो मेरे लंड को चूसे जा रही थी। अब में सोच रहा था कि जो अभी मना कर रही थी और वो अब कितनी मस्त होकर मेरे लंड को अपने मुँह में लिए जा रही है?

फिर मैंने उसे 69 पोज़िशन में लेटाया और चालू हो गया, आज में उसे लंड और चूत के सभी पोजिशन सिखा देना चाहता था, जिससे अगली बार वो और मस्ती में चुदाई कर सके और उसे कुछ भी नहीं बताना पड़े। अब तो मेरा उसे चोदने का मन हो रहा था। फिर मैनें अपने लंड को उसकी चूत से सटाकर जैसे ही अंदर डाला तो वो चीख उठी और बोली कि ओह मेरे राजा, क्या जानदार लंड है? मेरी चूत को चोद-चोदकर निहाल कर दो, मारो राजा, कस-कसकर धक्के मारो, चोद दो, चोद दो, हाईईई, हाईईईईईई, हाईईईईईई, में गईईई और फिर वो जोर-जोर से झड़ गई। फिर हमारी वो चुदाई 1 घंटे तक चली जो पाठक चूत का मजा लेते रहे है वो समझ रहे जायेंगे कि दूसरे राउंड में चुदाई का क्या मज़ा होता है? फिर थोड़ी देर के बाद में भी उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया और हम दोनों थककर एक दूसरे से चिपककर सो गये ।।

धन्यवाद …