Sex Stories पैसा भुख नही मिटाता

Indian Sex Stories पैसा भुख नही मिटाता – Paisa Bhukh Nahi Mitata – hindisexstori – 1

मैं सुरभी, उमर 31 साल, शादीशुदा औरत हूँ. मेरा कद 5 फीट 6 इंच है, जिस्म गडराया हुआ. मेरा पति अमित एक क्रोरेपति है और हमारा घर गुरगाव में है. मेरा पति और मैं बहुत खुले विहारों वेल हैं और हम एक दूसरे की सेक्स लाइफ में दखल अंदाज़ी नहीं करते. वो वैसे भी अधिकतर बाहर ही रहता है. मेरी चुत बहुत गरम है और जब तक अच्छी तरह से चुद्वया ना लून मुझे चैन नहीं मिलता. मुझे हर किस्म की आज़ादी है.

मेरे मायके में मेरी मा रुक्मणी और एक भाई संजय है. संजय कोई 22 साल का है और उसस्की शादी हो चुकी है. उसस्की पत्नी विँमी बहुत सेक्सी है. संजय भी 6 फीट का गबरू जवान है और एक बिज़्नेसमॅन है. विँमी एक आमिर ख़ानदान की बेटी है. संजय कई बारी मेरे घर बिना बताए आ जाता है. कहता है की मुझे सर्प्राइज़ देना चाहता है.

फ्री टाइम में आपनी सहेली और दोस्तों के साथ क्लब में शराब पी कर ऐश करती हूँ. ब्लू फिल्म्स देखना और लेज़्बीयन सेक्स करना और देखना मेरे शौक हैं. मेरा पति पिच्छली बारी इंग्लेंड से मेरे लिए एक 12 इंच का डिल्डो ले कर आइया था.” ये तुझे कभी एकेलापन महसूस नहीं होने देगा,” अमित आँख मार कर बोला था. मैने उसेस डिल्डो को कमर पर बाँध कर अमित की गांद भी चोद चुकी हूँ. लेकिन इश्स डिल्डो के बारे मैने कभी आपनी सहेलिओं को नहीं बताया.

मेरा रंग सांवला है और आँखें भूरी हैं, बाल छ्होटे कटवा रखे हैं और सेटेन काफ़ी बड़े हैं. मैं आज तक हर किस्म का सेक्स कर चुकी हूँ. मतलब आयेज पीच्छे और लड़कों और लड़कीों के साथ. मेरे अंडर सेक्स की आग हमेशा भड़कती रहती है.

पिच्छले हफ्ते मेरा पति दुबई गया हुआ था. गर्मी बहुत पद रही थी. सवेरे सवेरे मेरी प्यारी सहेली निखिता मेरे घर पर आ गयी.” सुरभि आज का किया प्रोग्राम है? निखिल अभी अभी गोआ चला गया है, किओं ना आज मज़े किए जाएँ. शराब पी कर क़िस्सी जिगलो का बंदोबस्त करें जो हमारी चुत को जन्नत दिखा दे. मेरे पास एक नही ब्लू फिल्म भी है जिसस में ब्राज़ील की मस्त लेज़्बियन्स हैं. चल तू तैयार हो जा, और फिर हम क्लब चलते हैं. चल मेरी बन्नो आज तेरी चुत की चुलबुलाहट मिटा देते हैं”

मैं कुच्छ और मूड में थी. निखिता मेरी सब से नज़दीकी सहेली थी. दिखने में एक गुड़िया थी. कोई 5 फीट 2 इंच की गोरी चित्ति. आँखें बिल्ली जैसी, बाल छ्होटे छ्होटे, गांद गड्राई हुई और चुचि मौसमी जैसी. निखिता ने उसेस वक्त सफेद स्कर्ट पहाँी हुई थी और आप्पर कला ब्लाउस. उसस्की गोरी गोरी जांघों के डर्शन कर के मेरा मूड बन गया की उसस्के साथ ही मज़े लिए जाएँ. जब निखिता ने मेरे कमरे में दाखिल हुई तो मैं नहा कर जिस्म पर टवल लपेट कर बात रूम से बाहर निकली थी. वो मुझे गौर से देखने लगी. मेरा बदन भीगा हुआ था और पानी की बूँदें चमक रही थी.

Antarvasna Hindi Sex Story  बड़े लंड का बड़ा सरप्राईज

मैं आपनी सहेली की तरफ बढ़ी और उस्स्को आलिंगन में लेकर चूमते हुए बोली,” मेरी निखिता रानी किओं ना आज घर पर ही ऐश की जाए. हम दोनो के पति बाहर हैं, किओं ना घर पर ही मज़े लूटे जाएँ. तू आपनी नही ब्लू फिल्म ले आ और मैं विदेशी वोड्का की बॉटल खोलती हूँ. तुझे चूम छत कर मज़े लेने का इरादा है मेरा. अगर मज़े में कोई कमी रह जाएगी तो घर पर ही जिगलो बुला लेंगे.” निखिता मेरे आलिंगन से बाहर निकलते हुए बोली,” अरी आराम से भाई…तुम तो पहले से ही गरम हो चुकी लगती हो…आज मुझ से ही कम चलाने का इरादा है किया? मेरी चुत में भी खुजली हो रही है. जब से वो फिल्म देखी है मुझे भी औरत के जिस्म का नशा चढ़ गया है…..वा किया लड़कियाँ हैं उसेस फिल्म में…बिल्कुल सोना है उनका बदन!”

मैं सुरभि, उमर 31 साल, शादीशुदा औरत हूँ. मेरा कद 5 फीट 6 इंच है, जिस्म गडराया हुआ. मेरा पति अमित एक क्रोरेपति है और हमारा घर गुरगाव में है. मेरा पति और मैं बहुत खुले विहारों वेल हैं और हम एक दूसरे की सेक्स लाइफ में दखल अंदाज़ी नहीं करते. वो वैसे भी अधिकतर बाहर ही रहता है. मेरी चुत बहुत गरम है और जब तक अच्छी तरह से चुद्वया ना लून मुझे चैन नहीं मिलता. मुझे हर किस्म की आज़ादी है.

मेरे मायके में मेरी मा रुक्मणी और एक भाई संजय है. संजय कोई 22 साल का है और उसस्की शादी हो चुकी है. उसस्की पत्नी विँमी बहुत सेक्सी है. संजय भी 6 फीट का गबरू जवान है और एक बिज़्नेसमॅन है. विँमी एक आमिर खंडन की बेटी है. संजय कई बारी मेरे घर बिना बताए आ जाता है. कहता है की मुझे सर्प्राइज़ देना चाहता है.

फ्री टाइम में आपनी सहेली और दोस्तों के साथ क्लब में शराब पी कर ऐश करती हूँ. ब्लू फिल्म्स देखना और लेज़्बीयन सेक्स करना और देखना मेरे शौक हैं. मेरा पति पिच्छली बारी इंग्लेंड से मेरे लिए एक 12 इंच का डिल्डो ले कर आइया था.” ये तुझे कभी एकेलापन महसूस नहीं होने देगा,” अमित आँख मार कर बोला था. मैने उसेस डिल्डो को कमर पर बाँध कर अमित की गांद भी चोद चुकी हूँ. लेकिन इश्स डिल्डो के बारे मैने कभी आपनी सहेलिओं को नहीं बताया.

मेरा रंग सांवला है और आँखें भूरी हैं, बाल छ्होटे कटवा रखे हैं और सेटेन काफ़ी बड़े हैं. मैं आज तक हर किस्म का सेक्स कर चुकी हूँ. मतलब आयेज पीच्छे और लड़कों और लड़कीों के साथ. मेरे अंडर सेक्स की आग हमेशा भड़कती रहती है.

पिच्छले हफ्ते मेरा पति दुबई गया हुआ था. गर्मी बहुत पद रही थी. सवेरे सवेरे मेरी प्यारी सहेली निखिता मेरे घर पर आ गयी.” सुरभि आज का किया प्रोग्राम है? निखिल अभी अभी गोआ चला गया है, किओं ना आज मज़े किए जाएँ. शराब पी कर क़िस्सी जिगलो का बंदोबस्त करें जो हमारी चुत को जन्नत दिखा दे. मेरे पास एक नही ब्लू फिल्म भी है जिसस में ब्राज़ील की मस्त लेज़्बियन्स हैं. चल तू तैयार हो जा, और फिर हम क्लब चलते हैं. चल मेरी बन्नो आज तेरी चुत की चुलबुलाहट मिटा देते हैं”

Antarvasna Hindi Sex Story  भाभी को चोदकर सहारा दिया

मैं कुच्छ और मूड में थी. निखिता मेरी सब से नज़दीकी सहेली थी. दिखने में एक गुड़िया थी. कोई 5 फीट 2 इंच की गोरी चित्ति. आँखें बिल्ली जैसी, बाल छ्होटे छ्होटे, गांद गड्राई हुई और चुचि मौसमी जैसी. निखिता ने उसेस वक्त सफेद स्कर्ट पहाँी हुई थी और आप्पर कला ब्लाउस. उसस्की गोरी गोरी जांघों के डर्शन कर के मेरा मूड बन गया की उसस्के साथ ही मज़े लिए जाएँ. जब निखिता ने मेरे कमरे में दाखिल हुई तो मैं नहा कर जिस्म पर टवल लपेट कर बात रूम से बाहर निकली थी. वो मुझे गौर से देखने लगी. मेरा बदन भीगा हुआ था और पानी की बूँदें चमक रही थी.

मैं आपनी सहेली की तरफ बढ़ी और उस्स्को आलिंगन में लेकर चूमते हुए बोली,” मेरी निखिता रानी किओं ना आज घर पर ही ऐश की जाए. हम दोनो के पति बाहर हैं, किओं ना घर पर ही मज़े लूटे जाएँ. तू आपनी नही ब्लू फिल्म ले आ और मैं विदेशी वोड्का की बॉटल खोलती हूँ. तुझे चूम छत कर मज़े लेने का इरादा है मेरा. अगर मज़े में कोई कमी रह जाएगी तो घर पर ही जिगलो बुला लेंगे.” निखिता मेरे आलिंगन से बाहर निकलते हुए बोली,” अरी आराम से भाई…तुम तो पहले से ही गरम हो चुकी लगती हो…आज मुझ से ही कम चलाने का इरादा है किया? मेरी चुत में भी खुजली हो रही है. जब से वो फिल्म देखी है मुझे भी औरत के जिस्म का नशा चढ़ गया है…..वा किया लड़कियाँ हैं उसेस फिल्म में…बिल्कुल सोना है उनका बदन!”

मेरी चुत का बुरा हाल था. लेकिन मैने आपने आपको संभाला और निखिता से अलग हो गयी. निखिता का बदन पसीने से भीग चुका था. मैने उस्स्को फिर से किस किया और डोर को बंद कर के लौटी. निखिता मुझे अजीब नज़रों से देख रही थी,”तुम ने मुझे रोक किओं दया सुरभि, मैं तुझे चोद कर तेरी चुत का रस निकल देने वाली थी. तुझे आपनी चुत का पानी निकलवाना है या नहीं?” मैने उसस्की चुत पर एक हल्का सा तपद मरते हुए कहा,” जल्दी किस सबात की है, निखिता? अभी तो हम शुरू हुए हैं. मेरे पास वैसा ससोतेली माँ भी है, जैसा फिल्म में इन लड़कीों के पास है. अमित पिच्छली बारी इंग्लेंड से ले कर आइया था एक रब्बर का लंड जिस्सको तुम पेटी से कमर पर बाँध सकती हो और मर्द की तरह लड़की चोद सकती हो.पूरा 16 इंच का है बिल्कुल असली लंड. हम डोड़नो एक दूसरे को उससी से चोदेंगे रानी, पसंद आई मेरी प्लान?”

Antarvasna Hindi Sex Story  दोस्त के साथ मिलकर उसकी माँ

निखिता को मेरी बात पर विश्वास नहीं हो रहा था. उससने वोड्का का ग्लास खाली करते हुए कहा,” सच? मुझे दिखायो कहाँ है? मैने आज तक रब्बर का लंड नहीं देखा, सिर्फ़ फिल्मों में ही देखा है. मुझे दिखा ज़रा मेरी चुत आज पहली बारी नकली लंड से चूड़ने वाली है. सुरभि, जल्दी से निकल और मुझे दिखा नकली लंड कैसे दिखता है!!” मैं अलमारी खोल कर आपना रब्बर का लंड ले आई. उसस्के नीचे अंडकोष भी बने हुए थे. बिल्कुल असली लंड जैसा था. उसस्का रंग कला था. निखिता का मूह खुला का खुला रह गया जब उससने मेरे हाथ में लंड देखा. उससने हाथ में पकड़ कर उस्स्को स्पर्श किया और फिर उसेस पर जीभ फेरने लगी.

निखिता लंड की पूरी लंभाई पर हाथ फेर रही थी और वासना से उसस्की आँखें गुलाबी हो रही थी.” वा मेरी सुरभि! ये तो बस असली ही दिखता है!! साली बहाँचोड़ मुझ से च्छूपा कर रखा था आपने भाई का लंड, साली मुझे भी तो इससका सवद चखा देती. आज तू ही आपने इश्स लंड से मुझे चोद दल. सच यार आज जिगलो की किया ज़रूरत है हुमको जब तेरे पास इतना मस्त लंड पड़ा है. आज तो तू ही मेरा मर्द बन जा, साली!” मैं आपनी सहेली की उतेज्ना पर मुस्कुरा पड़ी. “ठीक है रानी, पहले एक एक पेग और हो जाए. पहले पेग पीएँगे फिर मैं तुझे चोदूँगी. देख तेरी चुत कैसे फड़फदा रही है चूड़ने से पहले!”

हम दोनो ने एक एक पेग और पिया और अब मुझे भी नशा होने लगा. उधर टीवी पर दोनो लड़कियाँ एक बड़े से डिल्डो से एक साथ एक दूसरे को चोद रही थी. उनके डिल्डो के दो हेड्स थे. टीवी से “फक मे, फक मे” की आवाज़ें सुनाई पद रही थी. जैसे ही हुमारे पेग ख़तम हुए, तो निखिता उतेज्ना से भर के बोल उठी,” सुरभि, स्लाई बहाँचोड़, अब चोद दल मुझे!! तू मुझे तब चोदेगी जब पड़ोसी शोर सुन कर मुझे चोदने यहाँ आ जाएँगे? आपने इश्स मोटे लंड को पेल दल मेरी चुत में रानी” मैने डिल्डो को कमर से बाँध लिया और निखिता के आप्पर चढ़ गयी. निखिता टाँगें फैला कर मेरे नीचे पड़ी थी.

मैने उसस्की टाँगों की आपने कंधों पर रखा और डिल्डो को चुत के मुहाने पर. उसस्की मस्त चुचि को मूह में ले कर मैने एक ज़ोरदार धक्का मारा. कम से कम 4 इंच लंड निखिता की चुत में गुस्ता चला गया,” ऊऊऊओ….मार गयी…..बहाँचोड़….धीरे से…आअहह…..उूउउर्र्रररगग्गग…पेल धीरे से…है….चोद मुज़ेः!” मैने ढके मारना जारी रखा. दो टीन ढकों में ही, उसस्की चुत 8 इंच खा गयी.

पैसा भुख नही मिटाता – Paisa Bhukh Nahi Mitata – hindisexstori – 1

  • Madan Pal Singh

    Bahabi aunty girl land lena chahti h to whatsaap Kara 8512858703 from delhi