सेक्स गेम और ग्रुप सेक्स का मजा

हैल्लो दोस्तों, मेरा Antarvasna नाम अमन है, में ग्वालियर का रहने वाला हूँ, में 18 साल का हूँ और में 12वीं क्लास में हूँ। में दिखने में गोरा और अच्छा हूँ। मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच हैऔर में पढाई में बहुत होशियार हूँ। कोई भी लड़की मुझ पर आसानी से मर जाए और मेरा लंड 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। यह कहानी 1 साल पहले की है, हमारी क्लास में 5 स्टूडेंट का एक ग्रुप था 2 लड़के, 3 लड़कियाँ ( में, यश, दिव्या, प्रिया, राधा) प्रिया, राधा दिखने में ठीक थी, लेकिन दिव्या की तो बात ही कुछ और थी, वो बहुत ही सुंदर थी और उसका कलर गोरा है। वो पढाई में भी होशियार है, जो उसे एक बार देख ले तो पागल ही हो जाए। में उसे हमेशा से गलत नजरों से देखता था, वो बहुत ही सीधी थी। अब हम लोग काफ़ी खुल गये थे, हमारे बीच सेक्स तक की बातें होने लगी थी, लेकिन दिव्या इन सब से दूर ही रहती थी, उसके सामने हम कुछ भी उल्टी सीधी बातें नहीं करते थे।

फिर राधा ने बताया कि वो कई बार अपने भाई के साथ सेक्स कर चुकी है। अब उसकी स्टोरी सुनकर हम सभी गर्म हो जाया करते थे। मैंने कई बार राधा और प्रिया के बूब्स को उनकी शर्ट के ऊपर से दबाया था और उन्होंने भी मेरे और यश के लंड को हमारी पेंट के ऊपर से ही सहलाया था, लेकिन ये सब हम दिव्या के नहीं होने पर ही करते थे। हमारी बायोलॉजी की बुक में एक रिप्रोडक्षन का चैप्टर था, जिसे सर ने पढ़ने के लिए मना कर दिया था, वो किसी को भी समझ में नहीं आया था। अब हम सब रविवार को उसे पढ़ने के लिए राधा के घर पर जाने वाले थे। में उन सबको पढ़ाने के लिए जा रहा था, में अच्छे से उस चैप्टर को पढ़कर गया था, तो किसी कारण से यश नहीं आया।

अब राधा के घर पर और कोई नहीं था और में टेबल के एक साईड और वो तीनों दूसरी साईड बैठी थी। फिर जब हम सेक्सुअली रिप्रोडक्षन पर पहुँचे, तो सब मन ही मन हंस रहे थे। फिर जब एक विषय आया तो सब लड़कियाँ शर्माने लगी। फिर तभी राधा ने सारी किताबें बंद कर दी और कहने लगी कि चलो एक गेम खेलते है। फिर उसने कुछ पर्चियों पर सबका नाम लिखा और मिला दी, वो गेम कुछ इस तरह था कि एक पर्ची उठेगी और जिसका भी नाम आएगा सब मिलकर उसे पकड़ लेंगे और उसके सारे कपड़े एक-एक करके उतारेंगे और उसे अपने कपड़े उतरने से बचना होगा। इसके लिए 1 मिनट का टाईम होगा, तो सब तैयार हो गये, अब केवल दिव्या मना कर रही थी। फिर खेल शुरू हुआ, फिर मैंने एक पर्ची उठाई तो उस पर दिव्या का ही नाम था। अब वो मना करने लगी थी और वहाँ से भाग गयी थी। फिर तभी प्रिया बोली कि उसे जाने दो हम लोग खेलते है। फिर अबकी बार राधा ने पर्ची उठाई तो उस पर मेरा ही नाम था।

Antarvasna Hindi Sex Story  फटा चूत निकला खून

अब प्रिया ने मुझे कसकर पकड़ लिया था और राधा मेरे कपड़े उतारने लगी थी, तो वो दोनों मिलकर 1 मिनट में मेरी शर्ट और पेंट ही उतार सके। अब बारी राधा की थी, फिर प्रिया ने उसे कसकर पकड़ा और में उसके कपड़े उतारने लगा, लेकिन राधा बिल्कुल भी विरोध नहीं कर रही थी, तो हमने 1 मिनट में उसे पूरा नंगा कर दिया। फिर जैसे ही मैंने उसके बूब्स और चूत देखी तो मेरे होश ही उड़ गये। में पहली बार किसी लड़की को नंगा देख रहा था। अब में उसकी चूचीयाँ देखकर खुश हो गया था, बिल्कुल टाईट और बिल्कुल दूध जैसी थी और उस पर उसका ब्राउन कलर का निप्पल था। फिर मैंने उसे अपनी बाँहों में ले लिया और उसे किस करने लगा। फिर मैंने उसे अपनी बाँहों में उठाया और अंदर बेडरूम में ले गया और उसके होंठो पर किस करने लगा। फिर करीब 15 मिनट तक मैंने उसे किस किया। अब वो एकदम गर्म हो चुकी थी और चिल्ला रही थी प्लीज जल्दी करो। फिर मैंने उसे चूसना शुरू किया तो वो चिल्ला उठी प्लीज हाईईईईईईईआआआहह, प्लीज, हाईई, सस्स्स्स्सस्स, फुक मी, हाईईईईईईईई, प्लीज, हाईईईईईईईईई, ससस्स, जल्दी करो। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने भी अपनी चड्डी खोल दी, तो वो मेरा 7 इंच का मोटा तगड़ा लंड देखकर घबरा गयी और बोली कि प्लीज पूरा मत डालना, मुझे काफ़ी दर्द होता है। फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह में डालना चाहा, तो उसने मना कर दिया और बोली कि इसे मेरी चूत में ही डालो। फिर मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू किया और काफ़ी देर तक चाटता रहा। अब उसके मुँह से चीखे निकल रही थी आहह, ऊऊऊऊऊऊओ, प्लीज फुक मी, प्लीज चोदो मुझे, आआआआ अब और बर्दाश्त नहीं होता है, हाईईईईईईई, आआआअहह, प्लीज सस्स। फिर उसने मुझे खींचकर अपने ऊपर लेटा लिया और मैंने उसके कंधो को अपने हाथों से कसकर पकड़ लिया और अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा। अब अभी मेरा लंड सिर्फ़ आधा ही गया था कि वो जोर से चिल्लाई और पीछे हटने की कोशिश करने लगी, लेकिन मैंने भी उसे पूरे ज़ोर से पकड़ रखा था।

Antarvasna Hindi Sex Story  गुजराती लड़की लाली की चूत में लोड़ा

फिर मैंने एक और झटके से अपना करीब आधे से ज्यादा लंड उसकी चूत में डाल दिया और वो फिर से चिल्लाई उूउउ, आआआआहह, प्लीज छोड़ो मुझे, लेकिन मैंने उसे फिर से एक झटका दिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था। अब वो उसके मुँह से काफ़ी तेज आवाजे निकाल रही थी, लेकिन कुछ ही देर में उसे भी मज़ा आने लगा। फिर उसने कहा कि अब मुझे मज़ा आ रहा है प्लीज फुक मी फास्ट। फिर मैंने धीरे-धीरे अपनी स्पीड बढ़ाते हुए अपनी स्पीड तेज कर दी। अब वो चिल्ला रही थी प्लीज ज़ोर से चोदो, प्लीज फुक मी, ऊऊऊऊऊओ, आहह, ऊऊऊऊहह, उम्म्म्ममममम और फिर करीब 20 मिनट तक में उसे चोदता रहा। फिर उसकी चूत में से पानी निकल गया और उसने मुझे और टाईट से पकड़ लिया। अब में समझ चुका था की उसका पानी निकल चुका है। फिर मैंने अपनी स्पीड और तेज की तो थोड़ी देर में ही मेरा भी पानी निकल गया।

अब प्रिया भी पीछे खड़ी होकर यह सब देख रही थी, अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और अपने बूब्स को दबा रही थी। फिर कुछ देर के बाद राधा ने प्रिया के बूब्स पर अपना एक रखा, तो प्रिया सिर्फ़ मुस्कुराकर रह गयी। अब राधा ने प्रिया के एक बूब्स को दबाना शुरू कर दिया था। अब राधा को ऐसा करते देखकर में भी प्रिया के दूसरे बूब्स को दबाने लगा था। अब प्रिया ने अपनी आँखें बंद कर ली थी। फिर राधा ने प्रिया को बेड पर लेटा दिया और बेड पर लेटाने के बाद प्रिया के सारे कपड़े उतार दिए। अब में प्रिया की जाँघ पर बैठ गया था और उसकी चूत को सहलाने लगा था। फिर प्रिया ने बताया कि वो वर्जिन है, तो राधा बोली कि कोई बात नहीं। अब में उसे चोदने के लिए पूरा तैयार था। फिर मैनें जैसे ही अपना सुपाड़ा प्रिया की चूत पर रखा तो वो चिल्ला पड़ी। अब राधा मुझे दूर करके उसकी चूत को सहलाने लगी थी। फिर कुछ देर तक उसकी चूत को सहलाने के बाद उसने वही पास में पड़े डिब्बे से थोड़ा सा सरसों का तेल निकालकर उसकी चूत को अपने एक हाथ से फैलाकर डाला। फिर उसने मेरे लंड पर जो कि डंडे की तरह खड़ा था उस पर भी तेल लगाया।

Antarvasna Hindi Sex Story  साली की सिल तोडा

फिर तेल लगाने के बाद उसने मेरे लंड को प्रिया की चूत पर रख दिया, तो मैंने एक करारा झटका मारा तो मेरा लंड थोड़ा अंदर चला गया और उसने ज़ोर से एक सिसकी ली, अब वो बिल्कुल चिल्ला उठी थी। फिर मैंने एक और कसकर धक्का मारा, तो वो तड़प उठी, तो तब में समझ गया कि अब वो लड़की से औरत बन चुकी थी। फिर उसकी चीख को सुनकर राधा बोली कि शायद तुम्हारी सील टूट गयी है, अब उसकी चूत से खून आ रहा था। फिर थोड़ी ही देर में वो झड़ गयी और सीधी लेट गयी। फिर राधा ने मेरा लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और उसके मुँह में डाल दिया। अब वो मेरे लंड को चूसने लगी थी। फिर 10 मिनट के बाद में उसके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा रस पी गयी। फिर राधा ने तुरंत मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और उसे फिर से तैयार कर दिया।

फिर उसने मुझसे कहा कि अब मेरी गांड मारो तो मैंने यह सुनकर उसकी गांड में अपने लंड को घुसाकर ज़ोर से एक झटका मारा, तो उसके मुँह से आआआआहह की आवाज निकली। फिर इस तरह से हमारा यह प्रोग्राम करीब 2 घंटे तक चला। फिर हम तीनों नंगे ही एक साथ बाथरूम में नहाए और मैंने वहाँ भी एक-एक बार उन दोनों की चूत मारी। फिर हम लोग अपने-अपने कपड़े पहनकर फिर से रूम की तरफ अपनी-अपनी बुक्स लेने के लिए चल पड़े ।।

धन्यवाद …

  • Suz

    मजा आ गया