नादान चूत की मस्त चुदाई

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम विक्की है और में यहाँ अपनी कुछ रियल लाईफ स्टोरी वो भी सेक्स की शेयर करने आया हूँ। ये मेरी पहली और सच्ची कहानी है, आप सोचते होंगे कि सभी यही कहते है, क्या करूँ? मुझे सच को झूठ और झूठ को सच मानने की आदत नहीं है। में इस वक़्त MCA कर रहा हूँ, लेकिन ये बात कुछ ही दिन पहले की है, जब में गर्मियों की छुट्टियों में अपने घर गया था। अब घर पर मेरे मामा की लड़की आई हुई थी, तो में बहुत खुश हुआ, क्योंकि हमारी बहुत पटती थी। अब शाम के टाईम वो बेड पर लेटी हुई थी। फिर में उसके पास गया और लेट गया। अब वो थोड़ा सा अच्छा महसूस नहीं रही थी, क्योंकि बेड बहुत ही छोटा था, मतलब डबलबेड नहीं था। उसने कंबल ओढ़ रखा था, तो में भी उसी कंबल में घुस गया। अब उसका फेस मेरी तरफ था, अब उसकी साँसे मुझसे टकरा रही थी। अब मुझे हल्का- हल्का कुछ अजीब सा लगा, पता नहीं मुझे क्या हो रहा था? में आपको बता दूँ उसकी लंबाई 5 फुट 2 इंच है और उसकी ब्रेस्ट का साईज़ 29-30 के आस पास है, उसका पतला बदन बहुत ही मस्त है।

फिर जब उसकी साँसे मुझसे टकराने लगी, तो में उत्साहित होने लगा। फिर उसने करवट बदल ली, तो उसके चूतड़ मेरी तरफ हो गये जो कि अब मेरे लंड से टकराने लगे थे। अब मेरा लंड बिल्कुल सीधा खड़ा हो गया था। अब वो भी महसूस करने लगी थी कि कोई चीज उसे टच कर रही है, लेकिन वो कुछ नहीं बोली और चुपचाप लेटी रही, तो इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी। फिर मैंने उसकी कमर पर अपना एक हाथ रख दिया। तो उसने कहा कि क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं वैसे ही लेटे हुआ हूँ, तो उसके बाद वो लेटी ही रही। अब मेरा हाथ धीरे-धीरे उसकी जीन्स के अंदर जाने लगा था, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा और वो एकदम चुप थी और लंबी-लंबी सांसे ले रही थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  विधवा की चुदाई की प्यास

फिर जैसे ही मेरा हाथ उसकी पेंटी से टकराया, तो उसने कहा कि कोई आ जाएगा, क्योंकि सभी घर में ही थे तो मैंने अपना हाथ बाहर निकाल लिया और उससे कहा कि ऊपर आ जाए, में वहाँ इंतज़ार करूँगा, तो उसने हाँ भर ली। फिर में इंतज़ार करता रहा, लेकिन वो नहीं आई। अब में अपने रूम का दरवाज़ा खोलकर लेटा हुआ था और उस पल के बारे में सोच रहा था कि तभी निक्की (मेरी मामा की लड़की) मेरे रूम में आई और कहा कि बुआ ने खाने के लिए बुलाया है। तो में खाना खाकर वापस अपने रूम में आ गया और जानबूझकर दूध नहीं पीकर आया। फिर मम्मी ने उसको दूध देकर कहा कि जा विक्की को दूध दे आ। फिर जैसे ही वो मेरे कमरे में आई तो मैंने उसको अपने पास बैठा लिया और कहा कि आई क्यों नहीं? तो उसने कहा कि ये गलत बात है। फिर मैंने कहा कि नहीं ये दुनिया की सचाई है। फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया और उसके लिप्स तक पहुँच गया। अब हम दोनों की साँसे एक दूसरे के अंदर जा रही थी। अब मेरा लंड खड़ा हो गया था। अब उसके बाद में उसकी चूचीयों को दबाने लगा था, तो वो आह-आह करने लगी। फिर उसके बाद मैंने उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया, तो वो शर्मा गयी। फिर धीरे-धीरे मैंने उसकी टी-शर्ट और उसके बाद उसकी ब्रा निकाल दी, माँ कसम बहुत सेक्सी लग रही थी, छोटी-छोटी, गोल-गोल चूचीयाँ, एकदम बर्फ की तरह सफेद। अब में उसकी चूचीयों को पी रहा था तो कभी दबा रहा था। अब मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि यह क्या हो रहा है? बस अब हम दोनों पागल हो गये थे। फिर मुझसे रुका नहीं गया तो मैंने उसकी पेंट निकाली और उसकी चूत को चाटने लगा। कसम से अब तो मुझे स्वर्ग की सैर हो गयी थी, इतनी मस्त चूत थी कि मज़ा आ गया था। उसके साथ पहली बार ऐसा हुआ था इसलिए वो बहुत जल्दी झड़ गयी थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Antarvasna Hindi Sex Story  दो बहनों के साथ छुप्पा छुप्पी

फिर वो मेरे लंड पर अपनी जीभ निकालकर किस करने लगी। अब वो बिल्कुल पागल हो चुकी थी, बिल्कुल पागल, अब ना उसको होश था और ना मुझे। अब हम बस एक दूसरे के अंदर समाने को तैयार थे। फिर तभी उसने कहा कि अब मुझसे नहीं रुका जा रहा है, प्लीज मेरी प्यास बुझा दो। फिर मैंने कहा कि ठीक है। फिर मैंने अपना लंड जो कि 6 इंच लम्बा है उसकी चूत पर रख दिया, तो उसे गुदगदी होने लगी। फिर मैंने कहा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि कुछ नहीं। फिर मैंने जैसे ही उसकी चूत में अपने लंड का सुपड़ा अंदर किया, तो वो चिल्लाई हाईईईई में मर गयी, बाहर निकालो प्लीज, बहुत दर्द हो रहा है। तो में डर गया कि ये क्या हुआ? तो मैंने जल्दी से अपने लंड को बाहर निकाल लिया। फिर जब वो थोड़ो ठीक हुई, तो मैंने फिर से कोशिश की। फिर जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत में जाने लगा, तो वो चिल्लाने लगी। अबकी बार मैंने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए थे जिससे उसकी आवाज अंदर ही दब गयी थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  साली की चूत में तूफानी झटका

फिर मैंने अपना लंड थोड़ा सा और अंदर किया तो वो चिल्ला उठी हाईईईई में मर गयी, भाई प्लीज बाहर निकाल लो। फिर मैंने एक धक्का और मारा तो तभी मेरा लंड कहीं रुक गया। अब वो अंदर नहीं जा रहा था और वो चिल्ला रही थी। अब उसकी आँखों से आसूं निकल रहे थे, लेकिन मेरे ऊपर हवस का बुखार चढ़ा हुआ था। फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत पर एक और धक्का मारा तो एक आवाज़ आई पचक, अब उसकी चूत से खून निकलने लगा था। अब मेरा पूरा लंड लाल हो गया था, अब मेरी बेडशीट मेरे कपड़े सारे लाल हो गये थे और वो रो रही थी और में धक्के पे धक्के मार रहा था। फिर कुछ देर के बाद वो चुप हो गयी, शायद उसे मज़ा आ रहा था, तो उसने कहा कि तेरी माँ की चूत साले, तूने तो मेरी चूत ही फाड़ डाली, बहनचोद। अब में उसके शब्द सुनकर शॉक था। फिर मैंने उसकी चूत जमकर मारी और अपना सारा पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया। फिर उसके बाद वो नीचे चली गयी और फिर मैंने अपनी बेडशीट साफ की और सो गया।

अब में जब भी उसको बुलाता हूँ, तो वो नहीं आती है, वो बोलती है कि में चूत का भूखा हूँ इसलिए में उसे इतनी बेदर्दी से चोदता हूँ। अब में हमेंशा अपनी बहनों को चोदने के चक्कर में रहता हूँ, में चूत मारने के लिए कही भी जा सकता हूँ ।।

धन्यवाद …