मीरा बाई की मछली

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पिंटू है और में मुंबई के कांदीवली में रहता हूँ। मेरी उम्र 24 साल है और में फाइनल ईयर में हूँ। मैंने इस साईट की बहुत सी स्टोरी पढ़ी है और ज्यादा उम्र की औरते बहुत पसंद है। अब में आपका ज्यादा टाईम ख़राब ना करते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ। ये स्टोरी मेरे बाजू में रहने वाली मीरा बाई की और मेरे पहले सेक्स की है। पहले में आपको मीरा बाई के बारे में बता दूँ, वो भरपूर शरीर की महाराष्ट्रन लेडी है। मीरा बाई का फिगर 38-40-45 है और वो बहुत मस्त, मोटी, रसीली औरत है। मीरा बाई की उम्र 58 साल की है।

दोस्तों ये बात 2 हफ्ते पहले की है, मेरे एग्जॉम चल रहे थे और पढ़ाई करने के लिए मेरे पास कोई जगह नहीं थी, क्योंकि हमारे घर पर मेहमान आए थे इसलिए मुझे पढ़ाई करने में बहुत परेशानी हो रही थी। फिर मेरी मम्मी ने मेरी परेशानी समझी और मुझे हमारे पास में रहने वाली मीरा बाई के घर पर पढ़ाई करने के लिए भेज दिया। मीरा बाई अकेले ही रहती है और उसके पति की मौत 5 साल पहले हुए थी, वो घर पर साड़ी पहनती है, वो मेरा बहुत ख्याल रखती थी। मीरा बाई को उसके पति की मौत के बाद से शराब पीने की आदत हो गई थी, वो रोज शाम को शराब पीती थी। अब में मीरा बाई के हॉल में बैठकर पढ़ाई कर रहा था और मीरा बाई अपने घर के काम में बिज़ी थी। अब शाम के 8 बज गये थे तो मैंने थोड़ा रिलेक्स होने के लिए टी.वी चालू किया, तो डी.वी.डी प्लेयर भी चलने लगा, तो उसमें ब्लू फिल्म चल रही थी। अब में डर गया और तुरंत टी.वी बंद करके सोफे पर बैठा गया।

फिर घर का काम ख़त्म करके मीरा बाई मेरे पास आ कर बैठी और मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी। फिर मैंने कहा कि मुझे और पढ़ना है, तो मीरा बाई ने कहा कि तू आज की रात यहीं रुक जा और में तेरी मम्मी को फोन करके बताती हूँ, तो मैंने कहा कि ठीक है। फिर मीरा बाई बोली कि तू रिलेक्स हो जा में किचन में गैस बंद करके आती हूँ। अब मेरे दिमाग में बार-बार ब्लू फिल्म का ध्यान आ रहा था, अब किचन में जाते वक़्त मेरी नज़र मीरा बाई की गोल और मोटी गांड पर गई। अब उनकी गांड देखते ही मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और में अपना लंड ठीक कर रहा था कि मीरा बाई हॉल में आ गई और मुझे देख लिया और मुस्कुराई और बोली कि कैसा लग रहा है? तो में हड़बड़ा गया और बोला कि ठीक हूँ। फिर वो सोफे पर आकर बैठ गई और अब मीरा बाई का शराब पीने का टाईम हो गया था, लेकिन वो मेरे सामने कैसे पीती? फिर वो बैठी रही और बोली कि पिंटू तू पढाई करके बोर हो गया होगा, मेरे साथ मार्केट में चल डिनर के लिए फिश लेनी है। आज तू बहुत दिन के बाद मेरे घर आया है ना इसलिए, तो मैंने भी हाँ कर दी।

Antarvasna Hindi Sex Story  बहन को वीडियो गेम खेलना सिखाया

फिर मैंने मीरा बाई से बोला कि आप तैयार हो जाओ, में घर से बाइक लेकर आता हूँ, तो वो बोली कि ठीक है। हमारे घर से मार्केट बहुत दूर है और वो रास्ता बहुत सुनसान रहता है। फिर में घर चला गया और फ्रेश होकर बाइक लेकर मीरा बाई को आवाज़ दी। अब वो तैयार थी, फिर वो जल्दी से घर को लॉक करके बाइक पर बैठ गई। मीरा बाई बहुत मोटी है इसलिए वो बाइक पर बैठते वक़्त मुझे पकड़ कर बैठ गई। फिर हम मार्केट की तरफ निकल पड़े। अब आधे रास्ते में पहुँचते ही मीरा बाई ने मेरी कमर को पकड़ लिया क्योंकि रास्ता बहुत खराब था। फिर वो बोलने लगी कि पिंटू एक बात बोलूं।

पिंटू : हाँ पूछो मौसी।

मीरा बाई : तू ड्रिंक करता है क्या?

पिंटू : नहीं मौसी।

मीरा बाई : शर्मा मत, में किसी को कुछ नहीं बोलूंगी, तू मेरे बेटे जैसा है।

पिंटू : हाँ पीता हूँ, लेकिन आप मम्मी को मत बताना।

मीरा बाई : नहीं बताउंगी।

पिंटू : थैंक्स, लेकिन आज आपने क्यों पूछा?

मीरा बाई : तू तो जानता है ना, में शाम को शराब पीती हूँ रोज अकेले पीकर अच्छा नहीं लगता है, इसलिए पूछा कि आज तू मुझे कंपनी देगा।

पिंटू : (कुछ सोचने के बाद) मैंने हाँ बोल दी।

मीरा बाई : आज हम दोनों साथ में पीने बैठेंगे।

अब बातों-बातों में हम मार्केट पहुँच गये, फिर मैंने अपनी बाइक साईड में पार्क की। फिर मीरा बाई बोली कि शराब कौनसी लेनी है? तो में बोला कि जो आपको अच्छी लगे, तो मीरा बाई बोली कि रम ले लेते है, सर्दी बहुत है तो हम गर्म रहेंगे। फिर में जाकर वाईन शॉप से शराब ले आया, फिर मैंने मीरा बाई को पूछा कि मौसी और कुछ लेना है क्या? तो वो बोली कि कोल्डड्रिंक ले ले, तो में कोल्डड्रिंक भी ले आया। अब हम मार्केट में चल रहे थे और मीरा बाई मेरे आगे चल रही थी, अब उसकी मोटी गांड देखकर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने पूछा कि मौसी और क्या लेना है? तो वो बोली कि मेरे पीछे चल सब पता चल जायेगा। अब मीरा बाई की गांड देखकर मेरा लंड बहुत कड़क हो गया था। फिर हम थोड़ा चलकर मछली वाले की दुकान पर पहुँच गये, दुकान पर बहुत भीड़ थी। अब मीरा बाई मेरे आगे खड़ी थी और में उनके पीछे खड़ा था। फिर में मौका देखकर मीरा बाई की गांड से चिपक कर खड़ा हो गया, अब मेरा लंड खड़ा ही था। अब मीरा बाई को मेरा लंड अपनी गांड पर महसूस हुआ तो उसने पीछे मुड़कर देखा और पीछे मुझे देखकर मुस्कुरा दी और मछली लेने लगी। अब हम मछली लेकर जहाँ बाइक पार्क की थी वहाँ पहुँच गये। फिर मैंने मीरा बाई को सॉरी बोला तो वो बोली कि तू सॉरी क्यों बोला? तो मैंने कहा कि वहाँ बहुत भीड़ थी इसलिए मुझे आपसे चिपक कर खड़ा होना पड़ा, तो मीरा बाई बोली कि पागल तू मेरे बेटे जैसा है आगे से कभी सॉरी मत बोलना, तो मैंने ठीक है कहा और बाइक स्टार्ट की। अब हम चल ही रहे थे, तो मीरा बाई बोली कि मेडिकल शॉप पर बाइक रोकना, मुझे पैर मालिश करने का तेल लेना है। फिर मैंने बाइक रोकी, तेल लिया और घर की तरफ निकल पड़े। अब रास्ते में हमने कोई बात नहीं की, अब बहुत ठंड बढ़ गई थी। फिर 9 बजे हम घर पहुँचे, फिर मीरा ने लॉक खोला तो हम अंदर गए।

Antarvasna Hindi Sex Story  माँ बाप के साथ चुदाई का दिन

मीरा बाई : एक काम कर, तू कपड़े चेंज कर ले।

पिंटू : मौसी पर कहाँ से चेंज करूँ? मेरे कपड़े तो घर पर है।

मीरा बाई : हाँ रे पिंटू, तू बैठ में अंकल का पजामा लाती हूँ।

अब वो इतना बोलकर अपने कमरे में गई और मेरे लिए अंकल का पजामा लाई। अब में पजामा लेकर बाथरूम में चेंज करने गया, तो वहाँ मीरा बाई की पेंटी रखी थी, तो में तुरंत उनकी पेंटी को अपने हाथ में लेकर सूंघने लगा, उनकी पेंटी की बहुत मस्त खुशबू थी। फिर में चेंज करके सोफे पर बैठ गया, अब मीरा बाई किचन में मछली फ्राई कर रही थी, तो में भी किचन में चला गया और मीरा बाई के पीछे खड़ा हो गया और छुपने लगा, तो मीरा बाई ने कहा कि तुम बाहर बैठो में मछली लेकर आती हूँ, अब में उनकी गांड देखकर बाहर आ गया। अब मीरा बाई की गांड बार-बार मेरी आँखों में घूमने लगी थी और फिर में सोचने लगा कि कैसे मीरा बाई को चोदूं? फिर थोड़ी देर के बाद मीरा बाई मछली लेकर बाहर आई और बोली कि फ्रिज से कोल्डड्रिंक निकाल और दारू की बोतल खोल, में ग्लास लेकर आती हूँ और वो फिर से अपनी मोटी गांड मटकाते हुए किचन में चली गई। अब मेरा लंड मीरा बाई को चोदने के लिए पूरा कड़क हो गया था, फिर मीरा बाई ग्लास लेकर आई और बैठ गई।

पिंटू : मौसी कितना-कितना पेग बनाऊं?

मीरा बाई : तुझे जैसा ठीक लगे बना।

पिंटू : ठीक है।

फिर मैंने हम दोनों के पेग बनाये और पीने लगे, अब 1 पेग ख़त्म हुआ।

मीरा बाई : आज तेरे साथ शराब पीकर बहुत अच्छा लग रहा है।

पिंटू : थैंक्स मौसी।

मीरा बाई : मछली तो खा, खास तेरे लिए बनाई है।

फिर हमने और एक पेग पिया, अब मुझे नशा चढ़ने लगा था, लेकिन मीरा बाई को कुछ असर नहीं हुआ था, फिर 3 पेग में मीरा बाई को भी नशा चढ़ने लगा था।

मीरा बाई : पिंटू बेटा मछली खाना।

पिंटू : खा तो रहा हूँ।

फिर मैंने मीरा बाई को पूछा कि मौसी क्या में सिगरेट पी सकता हूँ? तो मीरा बाई बोली कि पी ना और मुझे भी दे। अब में एक और पेग बनाकर मीरा बाई को देने ही वाला था, तो मुझे मीरा के ब्लाउज में से उसके 2 मोटे बूब्स दिखाई दिए और में एकटक देखने लगा, तो मीरा बाई ने मुझे देखा और हँसने लगी तो मैंने अपना मुँह नीचे कर लिया और मछली खाने लगा।

Antarvasna Hindi Sex Story  शीतल दीदी ने चुदवा लिया

मीरा बाई : तूने तो पूरी मछली खा ली।

पिंटू : मुझे मछली बहुत पसंद है।

मीरा बाई : अच्छा है, मछली खाकर बॉडी बना और आगे बोलते हुए रुक गई।

पिंटू : और क्या करूँ?

मीरा बाई : कुछ नहीं, तू पी में तेरे लिए गर्म मछली लाती हूँ और किचन में चली गई। अब मेरा लंड पूरा खड़ा हुआ था, फिर में भी किचन में पहुँच गया और मीरा बाई के पीछे चिपक गया, अब मुझे नशे में कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि में क्या कर रहा हूँ?

मीरा बाई : क्या हुआ?

पिंटू : मुझे मछली खानी है बोलकर में और मीरा बाई की गांड से चिपक गया।

मीरा बाई : ला रही हूँ ना, गर्म करके।

तो फिर मैंने मीरा बाई के कंधे पर हाथ रखा और कहा कि मुझे मोटी और रसीली मछली खानी है।

मीरा बाई : मोटी और रसीली मछली अभी कहाँ से लाऊँ?

पिंटू : तुम हो ना मछली जैसी।

फिर मैंने मीरा बाई के मोटे पेट पर हाथ फेरते हुए कहा, तो मीरा बाई बोली कि तू बाहर जा में मछली लाती हूँ। फिर वो मछली लेकर आई, लेकिन कुछ बोली नहीं, फिर हमने दारू पी और सोने चले गये। अब में हॉल में ही सो रहा था और मीरा अपने बेडरूम में सोने चली गई। फिर 15 मिनट के बाद मीरा बाई आई और बोली कि पिंटू बेटा मेरे पैर पर मालिश कर दे, तो में बोला कि ठीक है आप चलो में आता हूँ, अब मीरा बाई बेड पर लेटी हुई थी।

मीरा बाई : पैर बहुत दर्द कर रहे है, दबा दे बेटा।

पिंटू : ठीक है, अब में तेल को अपने हाथ में लेकर उनके पैर को हल्के-हल्के से दबा रहा था।

अब मीरा बाई को अच्छा लग रहा था और बोली कि थोड़ा और ऊपर आकर दबा, तो में मीरा बाई की जांघो तक पहुँच गया और उनकी जांघो को सहलाने लगा, तो फिर मीरा बाई बोली कि थोड़ा और ऊपर आ जा, अब मेरी सांसे तेज़ होने लगी थी, उसकी बहुत मोटी और नरम जांघे थी।

मीरा बाई : कैसा लग रहा है बेटा?

पिंटू : बहुत अच्छा लग रहा है, मौसी।

फिर मीरा बाई बोली कि मछली खायेगा क्या? तो मैंने बोला कि हाँ, तो फिर मीरा बाई ने अपनी साड़ी ऊपर उठा ली और बोली कि ये ले मेरी पूरी मछली खा ले। अब मेरी धड़कन रुक गई थी, इतनी मोटी और काली चूत मैंने पहली बार देखी थी। फिर मैंने उनकी चूत को चूसा और लंड डालकर खूब चोदा। अब तो वो मुझसे चुदवाती ही रहती है और हम दोनों खूब मजा लेते है ।।

धन्यवाद …

  • Mann

    Nice story
    Meri or apki pasand ek hai kya Mira bai jo dekh sakta hu