लखनऊ की आरती की चुदाई

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आदि है और में लखनऊ का रहने वाला हूँ और में एक स्पोर्ट्समैन हूँ Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai मेरे लंड का साईज़ 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है जो क़िसी भी लड़की को संतुष्ट कर सकता है। मैंने बहुत सारी लड़कियों के साथ सेक्स किया है, कैसे में प्ले बॉय बना? आज आपको बताने जा रहा हूँ। मेरी एक दोस्त है आरती, उसका फिगर साईज 34-32-36 है और वो लखनऊ के एक हॉस्टल में रहती थी, हम अच्छे दोस्त थे लेकिन धीरे-धीरे हमारी बात आगे लव तक पहुँच गई। फिर एक दिन मैंने उसे प्रपोज़ कर दिया, तो वो कल जवाब दूंगी कहकर चली गई। फिर रात में हम फोन पर बात कर रहे थे तो उसने मुझे हाँ बोल दिया। फिर क्या था? फिर हम लोग कुछ दिन के बाद सेक्स की बातें करने लगे, अब फोन सेक्स करते हुए एक दिन हमने मेरे फ्लेट पर मिलने का प्लान बनाया।

फिर मैंने अपने दोस्तों से कहा कि आज आरती आ रही है और तुम सब मूवी देखने चले जाओ और वैसे भी हम 3 BHK फ्लेट पर 3 लोग ही रहते है तो रूम की कोई दिक्कत नहीं थी। फिर वो मेरे फ्लेट पर आई और वो जैसे ही अंदर आई तो मैंने दरवाजा बंद कर दिया और बिना देर किए उसे ज़ोर से हग किया और उसे किस करने लगा। फिर वो बोली कि में भागी नहीं जा रही हूँ, आराम से कर लेना, हमारे पास पूरा दिन है। फिर मैंने उसके लिप्स पर किस किया और फिर हम एक दूसरे में खो से गये। फिर 15-20 मिनट के बाद जब हम ज्यादा गर्म हो गये तो में उसे दीवार से चिपकाकर किस करने लगा। अब वो मदहोश होने लगी थी। फिर में धीरे से अपना एक हाथ उसके बूब्स पर ले गया जो कि बहुत बड़े-बड़े 34 साईज के थे और एकदम सॉफ्ट थे।

Antarvasna Hindi Sex Story  दो सौतेले भाई ने मुझे रात भर रेप किया

अब वो पागल हुए जा रही थी और सिर्फ़ आअहह आहह आराम से कह रही थी। फिर मैंने उसका टॉप निकाल फेंका, अब वो पिंक ब्रा में एकदम माल लग रही थी जैसे कोई पोर्न स्टार हो, बड़े-बड़े बूब्स, पिंक ब्रा और मैंने बिना देर किए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और उसके दोनों बूब्स को आज़ाद कर दिया। अब मेरे प्रेस करने से उसके बूब्स हार्ड हो गये थे। फिर में उसके पिंक टाईट निप्पल को अपने हाथ में लेकर चूसने लगा। अब वो मदहोश होती जा रही थी और चिल्ला रही थी काट दो, खा जाओ, सब तुम्हारा है, बहुत तड़पती हूँ कभी किसी ने नहीं चूसा, खा जाओ, वाऊ आदि तुम बहुत अच्छे हो और दबाओ, तेज़-तेज़ चूसो, मेरे निपल अपने दातों से खींचो, काट डालो मेरे दोनों बूब्स। फिर मैंने उसकी जीन्स उतार दी और अब वो पिंक पेंटी में थी।

फिर मैंने देर ना करते हुए उसकी पेंटी भी उतार दी, उसकी चूत एकदम टाईट थी। अब मेरी एक उंगली भी बहुत मुश्किल से जा रही थी, अब में समझ गया था कि यह कभी चुदी नहीं है। फिर मैंने उसकी चूत को चाटा तो अब वो मेरा सिर पकड़कर अंदर दबा रही थी और में अपनी जीभ से उसकी चूत को चोद रहा था। अब वो पागल हुए जा रही थी कि प्लीज खा जाओ, बहुत मज़ा आ रहा है मुझे, थैंक्स यार। फिर मैंने उसके हाथ में अपना लंड दे दिया तो वो डर गई और इतना बड़ा में कैसे अपनी चूत में लूँगी? मेरी चूत फट जाएगी, मुझे नहीं करना। फिर मैंने उससे कहा कि कुछ नहीं होगा, थोड़ा सा दर्द होगा और फिर बहुत मजा आएगा। फिर मैंने उसे सक करने को कहा तो वो बिना कुछ बोले सक करने लगी थी। अब वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे कि कोई आइसक्रीम हो। अब चुदाई की बारी थी, फिर मैंने अपने लंड पर थोड़ा सा तेल लगाया और उसकी चूत के किनारे-किनारे फैरने लगा।

Antarvasna Hindi Sex Story  क्या कातिल अदा थी चाची का

अब वो पागल हुए जा रही थी प्लीज अंदर डालो, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है। तो मैंने एक झटका लगाया और अब मेरा टोपा अंदर ही गया होगा कि वो जोर से चिल्ला पड़ी प्लीज निकालो मुझे नहीं करना है ये सब, बहुत दर्द हो रहा है प्लीज निकालो। फिर मैंने थोड़ा रुककर एक और झटका मारा, तो अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर था। अब वो अपना सिर इधर उधर पटक रही थी और चिल्ला रही थी आहह हह हह उूओ ऊ ऊऊ ऊ में मर गईईईइ, मम्मी प्लीज मुझे बचा लो, में मर जाऊँगी, बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज निकालो। फिर में धीरे-धीरे आगे पीछे करने लगा और अब में उसके बूब्स सक करता तो कभी किस करता। फिर कुछ देर के बाद वो शांत हुई और अब थोड़ा सा खून भी उसकी चूत से गिर रहा था, लेकिन अब में अपना लंड आगे पीछे करने लगा था। अब वो अहहाहाहहह उफ़फ्फ़ फक मी आदिइईई वाऊंवववव आह हाहह ह ऑश बहुत मज़ा आ रहा है, तुम बहुत अच्छा चोदते हो, अब में तुमसे रोजाना चुदवाऊंगी, प्लीज तेज़ तेज़ करो बोले जा रही थी। फिर मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी तो वो अयाया आहा अहहह ऑश उफफफफ्फ़ माँ में मर गई बोलती जा रही थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Antarvasna Hindi Sex Story  पहले प्यार का पहला पल

अब इतने में वो दो बार झड़ गई थी, अब मेरा अभी तक नहीं निकला था तो मैंने उसकी पोज़िशन चेंज करके उसको डॉगी स्टाइल में कर दिया। उसकी गांड बहुत मस्त थी और उसकी गांड कोई भी देख ले तो मारे बिना रह ही नहीं सकता है। फिर मैंने उसकी चूत में फिर से अपना लंड घुसा दिया और उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगा। फिर 1 घंटे के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गये, फिर मुझे उसकी गांड की याद आई। फिर मैंने उससे कहा कि मुझे तुम्हारी गांड मारनी है तो वो मेरे हाथ जोड़ने लगी प्लीज आज नहीं में बहुत थक गई हूँ, लेकिन फिर मेरे बहुत बार कहने पर वो मान गई और क्या बताऊँ? मुझे उसकी गांड मारने में चूत से ज्यादा मज़ा आया था। फिर मैंने अपने लंड पर थोड़ा सा तेल लगाया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड डाल दिया तो वो चिल्ला उठी आईई आहह हह ऑश हह आदि प्लीज बाहर निकालो, में मर जाउंगी एयाया आआ आह वूव्व ववव फुक मी हार्ड बेबी। अब वो चल भी नहीं पा रही थी। फिर मैंने उसे उसके हॉस्टल पर छोड़ा। फिर रातभर हमने आराम किया ।।