चाची की चटपटी चूत का मजा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम कोमल है और मेरी फेमिली काफ़ी बड़ी है antarvasna Kamukta Hindi Sex Stories मेरे 5 चाचा है और 2 बुआ है, बिज़नेस की वजह से हम दिल्ली में रहते है और बाकी के लोग 100 किलोमीटर दूर गाँव में रहते है। मेरे छोटे चाचा अपनी फेमिली के साथ दूसरे शहर में रहते है, मेरी चाची की उम्र 29 साल है, लेकिन अगर आप उसे देखोगे तो सिर्फ़ उसे 23-24 साल की बताओगे। मेरी चाची है ही इतनी मस्त और मेरी चाची के जिस्म का हर हिस्सा बड़ा ही प्यारा और सेक्सी है। उनका फिगर अच्छी-अच्छी हिरोईन से भी जबरदस्त है। मेरी चाची के चूचे बिल्कुल रबड़ की तरह है और बहुत ही गोरे है, मेरी चाची का जिस्म देखकर सब मेरे चाचा से जलते है कि इसे ये चिकनी कहाँ से मिली? मेरी चाची के दो बच्चे है, एक 8 साल का और एक 6 साल का है। मेरी चाची ने अपने आपको इतना मैनटेन किया है कि लोग समझते है कि वो कॉलेज जाती है। मेरे चाचा बैंगलोर में जॉब करते है और 2 महीने में घर आते है।

अब में जब भी चाची को देखता था तो मेरा ये कमबख्त लंड काबू में नहीं रहता था और फिर मुझे बाथरूम में जाना पड़ता और मुठ मारनी पड़ती थी। मेरी चाची के नाम से मेरा लंड इतना तन जाता था जैसे लोहे का हो। चाची मुझसे थोड़ी हँसी मज़ाक भी करती थी बस नॉर्मल ही, उसके नर्म होंठ बिल्कुल पिंक कलर के है और उसके बूब्स बहुत सुन्दर है। मैंने एक दो बार चाची को साड़ी चेंज करते हुए भी देखा था बस ब्लाउज और पेटीकोट में, उनकी कमर और उनकी नाभि ऐसी है कि चबा जाने का मन करता है। में उनके घर छुट्टी में गया था, फिर हम सबने खाना खाया और फिर सोने की तैयारी करने लगे। अब हम सब एक कमरे में सोने का प्लान बना रहे थे, तो चाची बोली कि यहाँ दो बेड है एक पर तुम और सोनू सो जाओ और एक पर में और इशिका सो जाते है, तो बच्चे सो गये। अब हम टी.वी देख रहे थे, तो तब टी.वी पर टाइटैनिक मूवी आ रही थी। फिर टाइटैनिक मूवी का वो पैंटिंग वाला सीन आया, तो मैंने कहा कि हम तो यहाँ ग़लत आ गये हमे तो दूसरे देश में पैदा होना था, तो चाची बोली कि क्यों? तो में बोला कि वहाँ कोई किसी को कुछ नहीं कहता जिसका जो मन करता है वो वही करता है। तो चाची बोली कि ये हिरोईन कौन है? तो में बोला कि ये कटे विंसलेट है ये बहुत सुंदर है, तो चाची बोली कि इतनी भी सुंदर नहीं है, तो में बोला कि बताओ किससे तुलना करूँ? तो चाची बोली कि किसी से भी, तो में बोला कि चलो आपको सब सुंदर कहते है तो आपसे ही तुलना करते है।

Antarvasna Hindi Sex Story  चुदाई ही जिन्दगी है

तो वो बोली कि ओके, तो में बोला कि उसके बाल देखो बिल्कुल भूरे और कितने मुलायम है? तो वो बोली कि मेरे बाल देखो, तो मैंने उनके बाल को टच किया, वो भी काफ़ी सिल्की थे तो में बोला कि उसकी आँखें देखो उसके होंठ देखो, तो चाची बोली कि वो मेकअप करती है और में मेकअप नहीं करती, अच्छा मेरे होंठो को अपनी उंगली से टच करो, तो मैंने चाची के होंठो पर अपनी उंगली फैरी तो क्या मुलायम और चिकने होंठ थे? फिर में काम की बात पर आया कि उसका फिगर देखो कितना मस्त है? तो चाची बोली कि में उससे पतली हूँ और मेरा वजन भी 55 किलोग्राम है, तो में बोला कि नहीं आपका वजन ज़्यादा है, तो वो बोली कि नहीं। तो में बोला कि चलो आपका वजन नाप लेते है, तो वो बोली कि वजन किससे नापोगे? तो में बोला कि अब तो मान लो वो हिरोईन आपसे सेक्सी है, तो वो बोली कि ओके मुझे अपनी गोदी में उठाकर देखो कि में भारी हूँ या नहीं। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब मुझे तो बस यही चाहिए था तो मैंने उनकी गांड के चारो तरफ अपने हाथों का सर्कल बनाया और उन्हें ऊपर उठा दिया, वो सच में 50 किलोग्राम के आस पास थी मैंने अनुमान लगाया था। फिर मैंने उन्हें इस तरह से नीचे उतारना शुरू किया कि उनकी बॉडी मेरी बॉडी से रगड़ खाए। अब उनके बूब्स मेरी छाती से चिपके हुए थे, अब उनका चेहरा मेरे चेहरे के बिल्कुल पास था, बस कुछ इंच की दूरी पर था। फिर ना जाने मुझमें कहाँ से हिम्मत आई कि मैंने अपने गर्म होंठ उनके होंठ से जोड़ लिए और उनके होंठो को चूसने लगा, तो वो पहले तो थोड़ी कसमसाई और अपने होंठ हटा लिए। फिर मैंने उनसे सॉरी कहा और उन्हें नीचे उतार दिया, तो वो कुछ नहीं बोली और बैठकर मूवी देखने लगी। फिर अचानक से में बोल पड़ा कि कटे विंसलेट कुछ ख़ास नहीं है, तो उन्होंने मेरी तरफ देखा तो में थोड़ा मुस्कुरा दिया।

Antarvasna Hindi Sex Story  जब मैंने पहली बार डलवाया

फिर चाची बोली कि अब क्या हुआ? तुम्हें तो वो अच्छी लगती है ना, तो में बोला कि चाची अगर मेरे सामने 18 से 28 साल की हज़ारो लड़कियाँ खड़ी कर दो तो उनमें कोई भी आपसे ज़्यादा सेक्सी नहीं होगी, तो चाची बोली कि अरे में कहाँ सेक्सी हूँ? तो मैंने कहा कि चाची आप हर तरफ से सेक्सी हो। तो चाची बोली कि कहाँ-कहाँ से? तो में बोला कि सिर से पैर तक सेक्सी हो। फिर चाची बोली कि सिर और पैर के बीच में बहुत कुछ है, तो यह सुनकर मेरी हिम्मत और बढ़ गयी तो मैंने कहा कि चाची आपके बूब्स बिल्कुल पर्फेक्ट है, तो वो बोली कि तूने कब देखे? तो में बोला कि हम तो बिना अंदर से देखे बता सकते है कि माल कैसा है? तो मैंने कहा कि चाची आपकी कमर, आपकी नाभि और आपके नितंब बिल्कुल शानदार शेप में है, चाचा बहुत भाग्यशाली है। फिर चाची बोली कि तुमने तो इनमें से कुछ भी नहीं देखा है। अब में समझ गया था कि ये थोड़ी देर में चुदने वाली है तो में बोला कि मेरी ऐसी किस्मत कहाँ? तो चाची बोली कि कभी किसी का कुछ देखा है? तो में बोला कि नहीं, तो वो बोली कि क्या देखना है? आज तू जो कहेगा वो दिख जाएगा।

फिर में बोला कि चाची में आपकी पूरी बॉडी को देखना चाहता हूँ, तो चाची बोली कि बाथरूम में आ जा। अब वहाँ पहले से ही बाथटब भरा हुआ था, अब चाची ने साड़ी पहन रखी थी। फिर चाची ने पहले अपनी साड़ी उतारी और फिर अपना ब्लाउज और पेटीकोट उतारा। अब जैसे-जैसे चाची अपने कपड़े उतार रही थी तो मेरा लंड खड़ा हो रहा था। फिर चाची ने अपनी ब्रा और पेंटी भी उतार दी, ओह माई गॉड मैंने पहली बार किसी नंगी औरत को देखा था, अब में तो बस बेकाबू हो गया था। चाची की चूत पर एक भी बाल का निशान नहीं था और उनका शरीर इतना चिकना था कि टच करो तो मैला हो जाए। फिर मुझसे और रहा नहीं गया और मैंने आगे बढ़कर चाची के गोल-गोल बूब्स भींच दिए और उनके होंठ चूसने लगा, तो चाची की सिसकी निकलने लगी और बोली कि तेरे चाचा 2-3 महीने में आते है, में यहाँ कैसे काम चलाती हूँ? तुझे नहीं मालूम, में अपनी उंगली डाल-डालकर परेशान हो गयी थी। मुझे इतने दिनों से किसी लंड का स्वाद नहीं मिला था।

Antarvasna Hindi Sex Story  बुआ की बेटी की चुदाई

अब हम दोनों बाथटब में बिल्कुल नंगे थे और अब चाची ने मेरा लंड अपने हाथ में ले रखा था। फिर चाची बोली कि तू मुझे आज जी भरकर चोद, आज में तेरी रांड हूँ। फिर में बोला कि चाची आज दूसरी बार इतनी कसी हुई और चिकनी चूत मिली है पहले दीदी की और अब आपकी मिली है, तो चाची बोली कि अच्छा तो आज मेरी चूत को अपने लंड से फाड़ दो। फिर हम बहुत देर तक ओरल सेक्स करते रहे और फिर वो टाईम आ गया जब मेरी चाची मेरे सामने अपनी टांगे फैलाए हुए लेटी थी और में अपने लंड को उनकी चिकनी चटपटी चूत तक ले जा रहा था। चाची की चूत बहुत टाइट थी, शायद बहुत दिनों से चाची की चूत में लंड नहीं गया था, तो मुझे थोड़ी तेज झटके मारने पड़े तो तब जाकर मेरा लंड अपने सही ठिकाने पर पहुँचा। फिर में बहुत देर तक बाथटब में चाची को चोदता रहा और हमने रातभर खूब चुदाई की। फिर सुबह बच्चों के स्कूल चले जाने के बाद मैंने फिर से चाची चुदाई की और अब मुझे जो भी स्टाइल अच्छी लगी मैंने उससे ही अपनी चाची को चोदा अब चाची के दो पति है और में चाची का दूसरा पति हूँ और चाची के होने वाले बच्चे का बाप हूँ। ये सिलसिला अब भी चल रहा है ।।

धन्यवाद …