बहन की गांड का दीवाना

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम खालिद है और में कराची का रहने वाला हूँ। में वो दिन कभी भी नहीं भूल सकता जब मैंने अपनी बहन को चोदा था। जब शनिवार 14 अगस्त को मेरे घरवाले घूमने गये थे। अब लाहौर वाले घर में मेरी बहन और में ही था। मैंने अपनी बहन के कपड़ो को पीछे से (गांड वाला हिसा फाड़ दिया था) और उसने नहाने के बाद वो कपड़े पहन लिए थे। अब मैंने उसके कमरे में छुपने की जगह बना ली थी। अब में उसे कपड़े पहनते हुए देखना चाहता था। फिर वो बाथरूम से बाहर नंगी ही निकल आई और जल्दी से दरवाज़ा बंद कर लिया। फिर उसने अपना मुँह मेरी तरफ कर दिया। (में अलमारी में छुपा हुआ था) अब उसकी लाल चूत से साफ ज़ाहिर था कि उसने अभी- अभी शेव की थी, उसके बूब्स बड़े-बड़े और फूले हुए थे।

फिर उसने अपने बूब्स को कपड़े से साफ किया और अपने बाल सुखाने के लिए अपना सिर लटकाकर बैठ गयी। अब उसने अपने बूब्स को सहलाना शुरू कर दिया था और अब उसकी हरकतों से साफ ज़ाहिर था कि वो सेक्स के इंतज़ार में थी, क्योंकि 25 साल की होने के बावजूद भी उसकी शादी नहीं हुई थी कि तभी अचानक से बाहर के दरवाज़े की बेल बजी, तो उसने जल्दी से कपड़े पहन लिए और बाहर चली गयी और में जल्दी से बाहर चला गया। फिर उसने मुझसे पूछा कि तुम कहाँ थे? दूधवाला आया था और शाम का दूध दे गया है। जब मेरी उम्र 18 साल थी और में घर में सबसे छोटा हूँ। फिर रात के 11 बजे में अपने कमरे में सोने गया, लेकिन अब मुझे हर वक़्त उसके नंगेपन का एहसास हो रहा था।

Antarvasna Hindi Sex Story  भाभी की भड़कती हुई चूत की प्यास

फिर में 12 बजे के करीब उसके कमरे में गया, तो वो टी.वी देख रही थी। फिर मैंने उससे कहा कि मुझे नींद नहीं आ रही है और मुझे डर लग रहा है। फिर उसने कहा कि मेरे साथ सो जाओ, तो मैंने कहा कि पहले में बाहर का दरवाज़ा चैक करके आता हूँ। फिर उसने कहा कि में बंद करके आई हूँ, तो फिर में बेड पर सो गया। फिर आधी रात को जब मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि वो सो रही थी और में चुपके से उसकी तरफ खिसका। अब वो गहरी नींद में थी तो उसने पलटकर अपना मुँह दूसरी तरफ कर दिया और मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी गांड पर रखा, लेकिन वो गहरी नींद में थी। फिर मैंने उसकी फटे कपड़ो वाली जगह ढूँढनी शुरू कर दी, तो अचानक से मेरा हाथ उसके गर्म-गर्म मांस को छूने लगा और में समझा कि वो नींद में है, लेकिन वो जाग चुकी थी। फिर उसने अपना मुँह छत की तरफ कर दिया, तो में डर के मारे काँपने लगा, लेकिन उसने खर्राटे मारने शुरू कर दिए ताकि मुझे ऐसा लगे कि वो नींद में है। फिर मैंने उसको अपने हाथ से उल्टा करने की कोशिश की, तो वो मेरे इशारे को समझ गयी। मैंने फिर से उसकी गांड को सहलाया, तो उसकी गांड बहुत सख़्त और बड़ी थी।

फिर मैंने महसूस किया की उसकी सलवार उतरती जा रही थी, तो मैंने उसको उतार दिया। अब मुझे उसकी गांड नाईट बल्ब की रोशनी में साफ-साफ नज़र आ रही थी। फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरा 4 इंच का लंड जो कि मेरी उम्र के लड़को में सबसे बड़ा था, वो मेरे जिस्म की गर्मी से फट रहा था। फिर में उसके ऊपर धीरे से चढ़ा और धीरे-धीरे पूरा उसके ऊपर चढ़ गया। अब मुझे उसका गर्म मांस बड़ा मज़ा दे रहा था। फिर मैंने अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगाया और उसकी चूत में डालने लगा और जब मेरे लंड का मुँह उसके अंदर गया, तो उसके मुँह से चीख निकल गयी और वो सीधी हो गयी। फिर मैंने उसकी चूत पर अपना हाथ घुमाया तो उसने नींद में होने का बहाना किया। अब उसके घुटने छत की तरफ थे और उसका मुँह दूसरी तरफ था। फिर मैंने उसकी चूत पर मेरा लंड रखा और एक धक्का मारा, लेकिन में नाकाम रहा, क्योंकि उसकी चूत टाईट थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Antarvasna Hindi Sex Story  लंड डाला भाबी के मुह में

फिर उसने अपने हाथ पर चुपके से थूक लगाया और अपनी चूत को सहलाने लगी। फिर उसने मेरा लंड पकड़ा और मेरे लंड का मुँह अपनी चूत पर रखा और मुझे अपनी तरफ खींचने लगी। फिर अचानक से उसके और मेरे मुँह से चीख निकली और उसका हाथ मुझसे छूट गया तो मैंने छूटने की बहुत कोशिश की, लेकिन उसने मुझे कसकर पकड़ लिया। अब वो चिल्ला भी रही थी आआहहाअ, ऊहह बहुत बड़ा है कम्बख़्त, क्या कर रहे हो? आहहहह, हम्म्मममममम, हम्म और में एक ही जगह पड़ा रहा। फिर अचानक से उसकी चूत से पानी निकलने लगा और उसकी चूत नर्म हो गयी। अब मुझे मज़ा आने लगा था और में अपने लंड को अंदर धकेलने लगा था और वो ज़ोर-जोर से चिल्लाने लगी ऊऊओ मत करो, में मर गयी, आअहह ऑश, हम्म्म्म आअहह और फिर अचानक से उसकी आवाजें तेज़ होने लगी आआअहह, आअहहआहहहहहह और फिर उसकी चूत से पानी निकल गया, तो मेरा लंड भी उसके झटके से बाहर निकल आया।

Antarvasna Hindi Sex Story  तलाकशुदा की जवानी की आग

फिर उसने अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया और नींद का नाटक करती रही। अब मेरा लंड भी सोने का नाम ही नहीं ले रहा था तो मैंने उसकी गांड पर मेरा लंड रखा, लेकिन उसने अपनी गांड सख़्त कर दी थी और मैंने थूक लगाकर हिलाना शुरू कर दिया तो मेरे लंड से भी पानी निकल आया और उसकी गांड के बाहर ही गिर गया। फिर मुझे थकावट से नींद आ गयी और फिर जब में उठा तो वो बाथरूम में थी, तो में डर के मारे अपने कमरे में चला गया। फिर वो 10 बजे मेरे कमरे में आई और अब में डर गया था, लेकिन उसने कहा कि उसकी नींद बहुत ख़राब है पता ही नहीं चलता कि क्या हो रहा है? रातभर ऐसा लग रहा था कि कोई मार रहा है इसलिए नींद में चिल्लाती रही, लेकिन वो ये सब मेरा दिल रखने के लिए कह रही थी।

फिर में जल्दी से नहाया और बाहर जाने लगा, तो उसने कहा कि रात को तुमने बिस्तर में पेशाब कर दिया था पागल, इसलिए मैंने चादर धो दी है, तुम किसी को मत बताना कि में रात को नींद में चिल्लाती हूँ। फिर मुझे जब भी कोई मौका मिला तो मैंने उसकी खूब चुदाई की और खूब मजे लिए ।।

धन्यवाद …