बहन की चूत में रिंग लगाई

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजा है और मेरी उम्र 24 साल है। में वेस्ट बंगाल का रहने वाला हूँ और मेरी एक छोटी बहन है श्रुति, जो मुझसे करीब 4 साल छोटी है, वो दिखने में बहुत खूबसूरत तो नहीं है, लेकिन उसका फिगर किसी भी लड़के को हिलाकर रख देता है। हम दोनों भाई बहन से ज्यादा एक दूसरे के दोस्त है, हम दोनों में ऐसी कोई भी बात नहीं है जो कि छुपी है और यहाँ तक कि वो मेरे अफेयर के बारे में भी जानती है। हम दोनों एक ही कमरे में दो अलग बेड पर सोते है। हम दोनों ही रात को कोई अंडरवेयर नहीं पहनते है, में सिर्फ़ लुंगी और श्रुति चूड़ीदार पजामे का ऊपरी हिस्सा पहनती है, तो रात को नींद में कभी-कभी उसका कपड़ा इधर उधर हो जाता है। मैंने बाथरूम में जाते वक़्त कई बार उसकी बिना झांटो वाली चिकनी चूत और उसने मेरा लंड देखा है, तो हम सुबह उठकर ये बात एक दूसरे को बताकर खूब हँसते है।

में कभी-कभी रात को इंटरनेट यूज़ करता हूँ, तो तब श्रुति मेरे पास ही बैठती है। फिर जब में इंटरनेट पर कोई सेक्सी साईट खोलता हूँ, तो हम दोनों मिलकर नंगे लड़के लड़कियों की तस्वीर देखते है। एक बार एक साईट पर लड़कियों की चूत की पिक्चर थी, जिसमें कई लड़किओं ने अपनी चूत पर छेद करके उस पर कई तरह की रिंग पहनी हुई थी। फिर श्रुति वो देखकर बोली कि भैया ये सब क्या है? तो मैंने कहा कि इसे पुसी रिंग कहते, जो कि लड़कियाँ अपनी चूत पर पहनती है, ये आजकल का नया फैशन है। फिर थोड़ी देर तक चुप रहने के बाद वो गौर से उन तस्वीरों को देखने लगी। फिर थोड़ी देर के बाद उसने कहा कि भैया मुझे भी अपनी चूत पर इस तरह की रिंग लगवानी है। तो मैंने कहा कि क्या? तू पागल हो गयी है क्या? तू ये सब लगाएगी।

Antarvasna Hindi Sex Story  गाँव वाली चाची की चुदाई

फिर उसने कहा कि क्यों इसमें कोई खराबी तो नहीं है? तो मैंने कहा कि नहीं वो बात नहीं है, लेकिन फिर भी ये सब कैसे करता है? कौन करता है? मुझे मालूम नहीं है। फिर उसने कहा कि कैसे करता है? ये आप नेट पर सर्च कर लो और उसने फिर से कहा कि भैया आपकी बहन आपसे कुछ माँग रही है और आप ना कर रहे हो। अब में क्या करता? तो में नेट पर रिंग के बारे में और जानकारी हासिल करने के लिए और ये सब रिंग कहाँ मिलती है? जानने के लिए सर्च करने लगा। फिर उस रात मैंने करीब 2 घंटे तक नेट सर्च करके सारी जानकारी हासिल की, चूत पर ज्यादातर छेद उसकी क्लाइटॉरिस पर की जाती है और क्लाइटॉरिस को छोड़कर चूत के होंठ पर भी छेद कराई जाती है, अब कैसे छेद करना है? और कहाँ पर ये रिंग मिलेगी? हमने ये सब जानकारी हासिल कर ली थी।

फिर उसने तस्वीर देखकर एक रिंग भी पसंद कर ली, वो रिंग कुछ इस तरह की थी एक रिंग में से दो 1/2 इंच लंबी चैन है, जिसके आखरी में दो छोटी-छोटी मेटल बॉल लगी हुई है, वो पूरी रिंग सिल्वर कलर की है और दाम करीब 1500-2000 रुपए होगी। फिर दूसरे दिन हम मार्केट से ढूँढकर वैसी ही रिंग खरीद लाए और छेद करने के लिए कुछ सुई पिन और रिंग की दूसरे कुछ और सामान भी ले लिए। फिर रात को सबके सो जाने के बाद हम दोनों सारे सामान लेकर तैयार हो गये। अब श्रुति अपने कपड़े उतारकर नंगी होकर बिस्तर पर अपने दोनों तरफ पैर फैलाकर सो गयी थी। फिर मैंने उससे पूछा कि तू ये रिंग कहाँ पर पहनेगी? तो उसने हंसकर कहा कि मेरे छोटे से लंड पर, तो में भी हंस पड़ा। फिर मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया रख दिया, ताकि उसकी चूत थोड़ी ऊपर की तरफ आ जाए। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Antarvasna Hindi Sex Story  सलमा आंटी की चूत से लंड का मिलन

फिर मैंने कहा कि देख में जब तेरे क्लाइटॉरिस पर छेद करूँगा, तो तब तुझे बहुत दर्द होगा। तो उसने कहा कि कोई बात नहीं आप करो और उसने अपने मुँह पर एक तकिया रख लिया, ताकि उसके मुँह से कोई आवाज़ ना निकल सके। फिर मैंने उसकी चूत पर पहली बार अपना हाथ रखा और वो एकदम अलग सा एहसास था। मैंने पहले भी अपनी गर्लफ्रेंड की चूत पर अपना हाथ फैरा है, लेकिन ये एकदम अलग सा एहसास था और उसकी चूत बिल्कुल टाईट थी। फिर मैंने पहले उसकी चूत में अपनी एक उंगली घुसाई तो मैंने देखा कि मेरी उंगली घुसते ही श्रुति का बदन कंप उठा। फिर मैंने अपनी दूसरी उंगली से उसकी चूत के लिप्स को थोड़ा खोलकर बीच में एक छोटा सा हार्ड प्लास्टिक का टुकड़ा ज़ोर देकर घुसा दिया, ताकि उसकी चूत का मुँह खुला रहे, तो इससे उसकी चूत से थोड़ा खून निकल आया।

फिर मैंने उसकी चूत पर छेद करके एक मोटी सी स्ट्रिंग उसमें बाँध दी, ताकि छेद बंद ना हो जाए। अब उसकी चूत में से थोड़ा खून निकल रहा था। फिर मैंने उसे साफ करके क्रीम लगा दी और फिर उसके बाद मैंने उससे पूछा कि कैसा लग रहा है? तो मैंने देखा कि उसकी आँखों में पानी आ गया था। उसने कहा कि दर्द हो रहा है तो मैंने कहा कि करीब 5-10 दिन तक थोड़ा दर्द होगा। फिर करीब 1 महीनें के बाद तुम अपनी रिंग पहन सकती हो, अब सो जाओ। फिर मैंने उसे एक दर्द की गोली दी, ताकि उसका दर्द थोड़ा कम हो जाए और वो गोली ख़ाकर अपने कपड़े पहनकर सो गयी। फिर दूसरे दिन सुबह मैंने देखा कि वो ठीक तरह से चल भी नहीं पा रही थी। उसने कहा कि भैया मुझे पेंटी या पेंट पहनने में बहुत दर्द हो रहा है, तो मैंने उससे कहा कि एक काम करो कुछ दिन तुम पेंटी या पेंट मत पहनो सिर्फ़ स्कर्ट पहनो तो तुम्हें तकलीफ़ कम होगी। तो उसने वैसा ही किया, ये अच्छी बात थी कि तब उसके स्कूल में छुट्टियाँ चल रही थी। अब में हर रात को उसकी चूत पर क्रीम लगा देता था। फिर करीब 25 दिन के बाद मैंने देखा कि उसकी क्लाइटॉरिस का छेद ठीकठाक हो गया है, अब उसमें रिंग पहनी जा सकती है। अब उस दिन श्रुति भी बहुत खुश थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  ऑटो में मिली मस्त भाभी की चुदाई

फिर मैंने उसके क्लाइटॉरिस के छेद में रिंग पहनाकर लॉक कर दी। अब उसकी चिकनी चूत पर वो रिंग सच में बहुत अच्छी लग रही थी। अब रिंग की वजह से उसकी क्लाइटॉरिस बाहर की तरफ ही रह रही थी। फिर श्रुति कांच के सामने खड़ी होकर अपनी चूत को बार- बार देखने लगी। फिर उसके बाद उसने कहा कि भैया आप अपने डिजिटल कैमरे से मेरी चूत की भी एक तस्वीर लीजिए ना। फिर मैंने उठकर अपनी डिजिटल कैमरे से उसकी चूत की 2-3 तस्वीर ले ली और फिर उसके बाद हम दोनों ने बहुत इन्जॉय किया ।।

धन्यवाद …