आंटी को पटाकर मस्ती में चोदा

हैल्लो दोस्तों, में फिर से आपके लिए एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ और अब में सीधा स्टोरी पर आता हूँ। ये स्टोरी करीब 2 महीने पहले की है जब में फेसबुक पर एक आंटी के साथ बात किया करता था। वैसे में आपको बता दूँ कि मुझे लड़कियों से ज़्यादा शादीशुदा भाभीयों और आंटीयों में ज़्यादा रूचि है इसलिए मैंने उनकी प्रोफाइल देखते ही उनको मैसेज किया और दूसरे दिन मुझे उनका रिप्लाई मिला, उसका नाम लीना था और उसकी उम्र करीबन 33 साल थी। फिर काफ़ी दिन तक उनके मैसेज पर बात करने के बाद हम फ्रेंड बन गये और अब वो भी मेरे साथ सब कुछ शेयर करती थी और में भी उनके साथ सब कुछ शेयर करता था। अब क्लोज़ फ्रेंड बनने के बाद हम कभी-कभी नॉटी बातें भी करने लगे थे, जैसे रोमांस और सेक्स की।

अब मुझे लगने लगा था कि उनकी तरफ से मुझे ग्रीन सिग्नल मिल रहा है, शायद वो मुझसे पट गयी थी। लेकिन ये मेरी ग़लत फहमी थी, क्योंकि वो तो किसी और से प्यार करती थी। अब मेरे सारे अरमान टूट गये थे, अब में थोड़ा मायूस हो गया था तो में उनको मैसेज में दुखी वाली स्माइल भेजने लगा। फिर उनका चौकाने वाला रिप्लाई आया कि मायूस मत हो, में तुझे मदद कर दूँगी। अब में सोच में पड़ गया था कि ना बोलने के बाद ये कैसी मदद की बात कर रही होगी? फिर मैंने पूछा कि आप मेरी कैसी मदद करोगी? तो उसने बोला कि में जिस मकान में रहती हूँ, वहां मेरे बाजू में ही मेरी उम्र की एक औरत रहती है और में तुझे उसके साथ परिचय करवाती हूँ, बाकी सब तू अपने आप कर लेना। अब में समझ गया था कि मुझे आगे क्या करना है?

फिर दूसरे दिन उसने मुझे फेसबुक पर ही प्रोफाइल लिंक भेजकर परिचय करवाया। फिर मैंने उसका फोटो देखा तो वो क्या पटाखा लग रही थी? उसका नाम निशा था। फिर हमारी बात स्टार्ट हुई, वैसे ही जैसे लीना के साथ हुई थी, वो सिर्फ़ 3 दिन में ही मुझसे पट गयी थी, क्योंकि वो उसके पति से सॅटिस्फाइड नहीं थी, वो बोलती थी कि मेरा पति एकदम पेटू है जिसका पेट बड़ा होता है वैसा, इसकी वजह से मुझे किसी चीज़ में उसकी और से संतुष्टी नहीं मिलती है। फिर मैंने बोला कि ठीक है मेरी जान अब में हूँ ना, में तुझे संतुष्ट कर दूँगा। फिर वो बोली कि कैसे करोगे? तुम अहमदाबाद में हो और में उत्तरप्रदेश में हूँ। फिर मैंने बोला कि टेन्शन मत ले मेरी जान में तेरे लिए वहाँ आ जाऊंगा। फिर उसने बोला कि लेकिन यहाँ हम कहाँ मिलेंगे? तो मैंने बोला कि तेरे घर पर। तो वो बोली कि नहीं घर पर नहीं यहाँ कोई भी कभी भी आ सकता है।

Antarvasna Hindi Sex Story  मेरी टीचर प्रिएंका की चुदाई

फिर मैंने बोला कि होटल में तो वो बोली कि नहीं मुझे होटल में डर लगता है। फिर मैंने बोला कि इसलिए तो बोल रहा हूँ तेरे घर पर मिलेंगे कोई टेन्शन भी नहीं रहेगा और हम अपना काम फटाफट कर लेगें। तो वो बोली कि ठीक है में सोचकर बताती हूँ, तो मैंने बोला कि ठीक है। फिर वापस 3-4 दिन तक हमारी नॉर्मल बात हुई, लेकिन फिर एक दिन दोपहर को उसका मैसेज आया कि हाय हनी तुम्हारे लिए एक गुड न्यूज़ है। तो मैंने बोला कि क्या न्यूज़ है जल्दी बता दो? तो वो बोली कि मेरा पति अपने काम के सिलसिले से 2 दिन के लिए बाहर जा रहा है, तो तुम कल आ जाओ, वो कल सुबह निकलने वाला है तुम दोपहर तक पहुँच जाना और लंच हम मेरे घर पर साथ ही करेंगे और 2 दिन तक मज़े करेंगे। फिर मैंने बोला कि में 2 दिन तक तो वहाँ नहीं रह सकता, मुझे भी काम रहता है। फिर मैंने बोला कि डियर तू टेन्शन मत ले में तुझे आधे दिन में ही मज़े करवा दूँगा। फिर वो बोली कि ठीक है तुम आओ तो सही, फिर देखते है।

फिर अगले दिन सुबह मैंने उसको मैसेज कर दिया कि में तुम्हारे पास पहुँचने के लिए निकलने वाला हूँ। तो उसका तुरंत रिप्लाई आया कि में तुम्हारा इंतजार करूंगी स्वीट हार्ट। फिर मैंने पूछा कि तू इतनी सुबह में जाग क्यों रही है, क्योंकि उस वक़्त सुबह के 5 बजे थे। फिर वो बोली कि तुम आने वाले हो, तो मुझे उत्तेजना में नींद ही नहीं आ रही है। फिर मैंने बोला कि हम ज़रूर मिलेंगे, तुम 4-5 घंटे आराम से सो जाओ, क्योंकि फिर तुम रात तक सो नहीं पाओगी। फिर वो बोली कि हाँ जल्दी आओ, फिर करीब 11 बजे में उसके घर पहुँचा और डोर बेल बजाई। तो उसने डोर ओपन किया और क्या बताऊँ यारो वो क्या माल लग रही थी? अब में तो तभी अपना होश खो बैठा था। फिर उसने मुझे अंदर बुलाया और पानी दिया। फिर मैंने थोड़ी देर तक यहाँ वहाँ की बातें की और उसको बोला कि अपना घर नहीं दिखाओगी, तो उसने बोला कि चलो दिखाती हूँ, मैंने हॉल तो देखा ही था और फिर मैंने किचन, स्टोर रूम वगैहरा देखा। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Antarvasna Hindi Sex Story  दोस्त से अपनी बीवी को चुदवाया

फिर मैंने बोला कि बेडरूम कहाँ है? तो उसने बोला कि चलो। फिर उसने मुझे अपना बेडरूम दिखाया और तब ही मैंने उसको पीछे से हग किया और उसकी गर्दन पर और गाल पर किस किया। फिर वो हँसते हुए बोली कि बड़ी जल्दी में लगते हो, तो मैंने बोला कि नहीं ऐसा कुछ नहीं है। फिर उसने बोला कि चलो पहले कुछ खा लेते है। फिर मैंने बोला कि मुझे अब तुम्हारे सिवाए कुछ नहीं खाना है। फिर वो बोली कि अरे बाबा मैंने तुम्हारे लिए प्यार से लंच बनाया है। फिर हम खाना खाने बैठे और उसने अपने हाथ से मुझे पहला निवाला खिलाया। फिर मैंने भी उसे अपने हाथ खाना खिलाया। फिर लंच ख़त्म करके में सीधा उसके बेड पर जाकर लेट गया और फिर वो सेक्सी स्टाइल में आई और मुझे उत्तेजित करने लगी। फिर मैंने उसका हाथ पकड़कर उसको अपने पास खींचा और उसको अपने ऊपर ले लिया। फिर मैंने उसको किस किया और वो भी मुझे किस कर रही थी।

अब वो गर्म होने लगी और पागलों की तरह मेरे होंठ चूसने लगी और अपने एक हाथ से मेरे लंड को मेरी पेंट के ऊपर से ही रगड़ने लगी थी। फिर मैंने उसकी साड़ी निकाल दी और उसके बूब्स दबाने लगा, फिर मैंने उसका ब्लाउज और पेटीकोट भी निकाल दिया। अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में ही थी, फिर उसने मेरी शर्ट के बटन खोलकर शर्ट निकाली और मेरी पेंट भी निकाल दी और मेरे लंड को सहलाने लगी। फिर वो बोली कि यह तो मेरे पति से बड़ा है और हाँ में आपको तो बताना ही भूल गया कि उसका फिगर 30-28-30 था, वो पतली कमर वाली सेक्सी आंटी थी। फिर वो बोली कि मुझे लंड चूसना बहुत अच्छा लगता है, लेकिन मेरे पति मुझे मना करते है। फिर मैंने बोला कि में मना नहीं करूँगा, तू कर जो तुझे करना है, तो वो मेरा लंड चूसने लगी थी।

Antarvasna Hindi Sex Story  एक गलती का पूरा मजा लिया

अब उसने धीरे-धीरे अपनी स्पीड बढ़ा दी थी। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, क्योंकि किसी ने पहली बार मेरे लंड को सक किया था। अब में भी पूरा गर्म हो चुका था, अब में उसके बूब्स को दबा रहा था। फिर वो बोली कि अब मुझे चोदो, अब रहा नहीं जा रहा है। फिर में उसको लेटाकर उसके ऊपर आ गया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड अंदर डाल दिया। फिर वो ज़ोर से चीखी तो मैंने उसे किस करके उसका मुँह बंद कर दिया और झटके मारने शुरू किए। अब में ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगा था और अब वो भी मेरे झटको से उछल रही थी। फिर करीब 15 मिनट के बाद में झड़ गया और फिर वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड को अपने हाथ से हिलाने लगी और फिर से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी, तो मेरा लंड फिर से टाईट हो गया। फिर उसने मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को अपनी चूत में डाल दिया और ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगी और आह्ह्ह करने लगी।

अब में अपने दोनों हाथों से उसके बूब्स दबा रहा था और अब मुझे ऐसा लग रहा था कि जन्नत में काफ़ी ज़ोर-जोर के झटके लगते ही रहे। फिर 20 मिनट के बाद वो झड़ गयी और सीधी मेरे ऊपर लेट गयी। अब वो बहुत थक चुकी थी और बहुत खुश थी और बोली कि थैंक यू जानू, आज तुम्हारी वजह से मुझे बहुत मज़ा आया है। फिर हम लोग ऐसे ही नंगे पड़े रहे, फिर हम दोनों ने 15-20 मिनट तक बहुत किस किया। फिर हम साथ में नहाने गये और हमने वहाँ भी क़िस किया। फिर उसने मुझे नहलाया भी और फिर उसने तैयार होकर मुझे चाय पिलाई और फिर में उसको गुड बाय किस करके वहाँ से निकल गया और इस तरह मैंने उसके साथ 2-3 बार सेक्स किया। अब जब भी में काम की वजह से वहाँ से निकलता हूँ, तो वहाँ से उसको मिलकर ही जाता हूँ ।।

धन्यवाद …