चलती ट्रैन में स्कूल गर्ल को ठोका

हेलो दोस्तो कैसे हो आप लोग। मैं नाईटडिअर का रेग्युलर पाठक हूँ और मुझे इसमे भाई बहन और Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai गर्लफ्रेंड की कहानियां अच्छी लगती है तो दोस्तो मैं आप लोगो को ज़्यादा बोर नही करूँगा।

मेरी उम्र 25 साल है और नाम रोहित है और मैं कानपुर मैं रहता हूँ आखिर ये सब बाते मैं आप लोगो के साथ ही बाँट सकता हूँ और किसी के साथ तो नही बाँट सकता तो दोस्तो मैं अपनी स्टोरी शुरू करता हूँ आज जो मैं कहानी सुनाने जा रहा हूँ वो रियल घटना अभी हाल ही की है जब मैं कानपुर से दिल्ली के लिये जा रहा था मैने अपना टिकट संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस के थर्ड ए.सी मैं बुक करवाया था.

मैं जैसे ही स्टेशन पर पहुँचा मेरी नज़र लड़कियो को तलाशने लगी मैने एक लड़की को देखा जो की रेड टाइट टी-शर्ट और ब्लू जीन्स पहन रखी थी यार क्या फिगर था यार मस्त माल थी उसकी बूब्स एकदम नुकीले और टाइट लग रहे थे और उसकी गांड मस्त थी मैं काफ़ी देर तक उसे देखता रहा इसके साथ साथ और लड़कियो को भी देख रहा था इतने मैं ट्रेन आ गई मैं ट्रेन मैं चढ़ा और अपना बर्थ ढूंढने लगा मेरा बर्थ उपर वाली सीट पर था जहा मेरी सीट थी उसके नीचे वाली बर्थ पर एक फेमिली जा रही थी उस फेमिली मैं दादा, दादी,माँ दो बच्चे और एक मस्त फिगर वाली एक लड़की थी जिसकी उम्र 19 साल होगी.

मैंने जैसे ही उसे देखा तो उसे ताड़ने लगा बूब्स छोटे, होंठ मस्त और उसकी गांड फूली हुई और जाँघ आवरेज थी उसने एक टी-शर्ट और स्कर्ट पहना था जिससे उसके मस्त पैर दिख रहे थे मैने सोचा की साथ मैं फेमिली है तो कुछ कर भी नही सकता था खैर मैं अपने बर्थ के उपर चला गया और ट्रेन चल पड़ी उस फेमिली से मेरी कुछ कुछ बात भी हो रही थी लेकिन मेरी नज़र तो उस लड़की पर थी जो अपने दोनो भाइयो के साथ खेल रही और बाते कर रही थी और कभी कभी मुझे भी देख रही थी लेकिन मैं उपर बर्थ पर था.

मैं नीचे कभी कभी देख रहा था और उस लड़की की चूचीयो का मजा ले रहा था और अपने लंड को दबा रहा था इसी तरह एक डेढ़ घंटा बीत गया मैं अपने साथ कोल्डड्रिंक्स मैं वोड्का मिक्स करके लाया था तो मै धीरे धीरे लेने लगा और अपना लेपटॉप खोल कर कुछ वीडियो सोंग लगा दिया एक डेढ़ घंटा इसी तरह चलता रहा अब मुझे वोड्का का नशा होने लगा था और नीचे फेमिली सोने की तैयारी करने लगी मैने देखा की वो लड़की सोने के लिये मेरे सामने वाले उपर बर्थ पर आ गई मैं वीडियो देखने मैं व्यस्त था मैने देखा की वो मेरी तरफ लेट कर वो वीडियो देखने की कोशिश कर रही थी तो मैने लेपटॉप का स्क्रीन थोड़ा उसकी तरफ कर दिया और मैं बाकी का बचा हुआ वोड्का पीने लगा नीचे उस फेमिली के लोग सो गये थे और सिर्फ मेरे सामने वाली बर्थ की लड़की जाग रही थी मैने इशारे से पूछा की वीडियो दिखाई दे रहा है तो उसने भी इशारे मैं हाँ कहा अब मैने सेक्सी सोंग लगा दिया पूरी बोगी सो चुकी थी और चारो तरफ अंधेरा ही अंधेरा था सेक्सी वीडियो देखने से मेरा तो लंड खड़ा हो गया था और मैं हाथ से दबा दबा कर उसे शान्त कर रहा था.

Antarvasna Hindi Sex Story  खूब दूध पिया दूध वाली का

अब मुझे वो लड़की ही माल दिखने लगी थी मैने सोचा की क्यो ना इसी के साथ कुछ मजा किया जाये तो मैंने एक उपाय सोचा मैने देखा की वो लड़की बड़ी गौर से अभी भी वीडियो देख रही थी मैने चारो तरफ का जायज़ा लिया की सब सो गये है की नही मैने पाया की सभी सो गये है तो मैने अपना लेपटॉप थोड़ा सा अपनी तरफ कर लिया ताकि उस लड़की को सही से दिखाई ना दे ऐसा करने पर मैने देखा की वो थोड़ा इधर उधर हो कर देखने की कोशिश कर रही है तो मैने और लेपटॉप को अपनी तरफ कर लिया और ऐसा जाहिर किया की मुझे लेपटॉप रखने मैं तकलीफ़ हो रही है मैने धीरे से उस लड़की से बोला की कुछ देर के लिये तुम लेपटॉप को पकड़ो तो उसने हाँ मैं सर हिलाया और मैने लेपटॉप उसे दे दिया.

कुछ देर ऐसे ही चलता रहा फिर मैने देखा की उसे भी अब दिक्कत हो रही थी तो मैने उसे धीरे से कहा की वो मेरे बर्थ पर आ जाये और लेपटॉप को अपने बर्थ पर रख दे ताकि हम दोनो देख सके तो इस पर उसने थोड़ी देर सोचा और फिर नीचे देखा की सभी सो रहे है की नहीं फिर वो मेरे बर्थ पर आ गई और मैने कंबल से उसे उपर से ढक दिया हम और वो ऐसे सोये थे की उसकी गांड मेरी तरफ थी मुझे तो अब मजा आ गया था मैने सोचा आज इसकी मस्त मुलायम गांड को सहला सहला कर मजा लूँगा फिर हम दोनो वीडियो देखने लगे एक ही बर्थ पर होने की वजह से वो मुझसे एकदम चिपकी हुई थी.

मैने धीरे से उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम कुसुम बताया उसकी गांड की गर्मी से मेरा लंड टाइट हो गया था मैने उसे थोड़ा एर्जेस्ट करने के लिये बोला तो वो और मेरे लंड से चिपक गई मुझे तो मजा आ रहा था मैने अपने हाथ से अपना लंड एर्जेस्ट करके ठीक उसकी गांड के सामने फिट किया और अपना एक हाथ उसकी गांड पर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा ट्रेन के हिलने की वजह से हम भी आगे पीछे हो रहे थे और मैने इसका पूरा फायदा उठाते हुये उसकी गांड मैं अपने लंड को रग़ड रहा था अब मुझे सहन नही हो रहा था तो मैने उसकी स्कर्ट को ऐसे उठाया जैसे लगे की मैं कंबल एर्जेस्ट कर रहा हूँ और मैने उसकी स्कर्ट को उसकी कमर तक कर दिया और अपना हाथ उसकी जाँघ पर रख कर धीरे धीरे सहलाने लगा मैं अब उसकी पेंटी तक पहुँच गया था मैने पाया की वो थोड़ा कभी आगे जाती तो कभी पीछे मुझे तो बहुत मजा आ रहा था वो लड़की अभी भी वीडियो देख रही थी.

Antarvasna Hindi Sex Story  पेहले चुदाई,बाद मे पढाई

मैने एक हाथ से अपनी जीन्स का बटन खोल के अपने लंड को निकाल कर उसकी गांड से सटा दिया और मजा लेने लगा मेरे लंड और उसकी गांड के छेद के बीच में सिर्फ उसकी पेंटी थी फिर भी मुझे उसकी मुलायम गांड पर लंड रगड़ने मैं बहुत मजा आ रहा था मैने पाया की वो अपनी गांड मेरे लंड पर दबा रही थी तब मैने सोचा की क्यो ना और आगे का प्रोग्राम किया जाये तो मैने धीरे से अपने हाथ को उसके बूब्स पर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा बहुत ही टाइट बूब्स थे साली के मै धीरे धीरे उसे मसलने लगा.

अब मैने पाया की वो लड़की भी थोड़ी गर्म हो रही थी मैने उसके गालो पर भी किस करना चालू कर दिया मैने धीरे से कुसुम से पूछा की मजा आ रहा है तो उसने धीरे से हाँ कहा मै खुश हो गया की लड़की पट गई है अब आगे कुछ करने मै दिक्कत नही होगी तो मैने धीरे धीरे अपना हाथ उसके स्कर्ट मैं ले जाकर मैने अपना हाथ उसकी चूत पर ले गया हल्के हल्के बाल मैने महसूस किये और मैं ऐसे रगड़ने लगा मुझे तो बड़ा मजा आ रहा था मै एक उंगली उसकी चूत मैं डाल के थोड़ा अंदर बाहर करने लगा वो मज़े से आगे पीछे होने लगी मैं समझ गया की साली ये अब चुदने के लिये तैयार है तो मैने अपना हाथ उसकी पेंटी से निकाल कर और उसकी पेंटी को धीरे धीरे निकाल दिया और उसे बोला की अपना स्कर्ट को थोड़ा उपर करे तो उसने अपना स्कर्ट पूरा उपर कर लिया मैने भी अपना बरमूडा को निकाल दिया.

अब हम लोग कमर से नीचे पूरे नंगे थे मैने अपने लंड को उसकी गांड के छेद पर फिट करके रगड़ने लगा और एक हाथ से उसकी चिकनी जाँघो और चूत को सहलाने लगा बड़ा मजा आ रहा था उसकी नाज़ुक गांड से खेलने मैं मै अपना लंड अब ज़ोर ज़ोर से उसकी गांड मैं रगड़ने लगा और आँखे बंद करके उसके गालो को चूसने लगा इधर कुसुम सीईईई सीईइ की आवाज़ निकाल रही थी 10 मिनिट ऐसा करने के बाद मेरा पानी निकल गया और उसकी गांड पर गिर गया मैंने बहुत मजा लिया था मैने झट से रुमाल निकाल कर उसकी गांड को पोछा और उससे पूछा की मजा आया मेरी जान तो उसने कहा हाँ बहुत मजा आया फिर मैने नीचे देखा तो सभी लोग सो रहे थे ट्रेन पूरी रफ़्तार मैं चल रही थी.

मैने अब लेपटॉप को बंद कर दिया और कुसुम से बाते करने लगा की कहा रहती है और किस क्लास मैं पढ़ती है तो उसने बताया की वो दिल्ली के पटेल नगर मैं रहती है और क्लास 12 वी की स्टूडेंट है मैने सोचा की क्या मस्त माल का आज मैने मजा लिया वो भी एक सील पेक लड़की का ऐसा करते करते मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा मैने उससे कहा की वो मेरे लंड को पकड़ कर हिलाये और अपनी गांड से रगडती रहे वो ऐसा ही करने लगी और मैं एक हाथ से उसकी चूत और दूसरे हाथ से उसके बूब्स दबाने लगा बड़ा मजा आ रहा था मैंने एक उंगली धीरे से उसकी चूत मैं डाली और आगे पीछे करने लगा इस पर कुसुम ऑश आआअहह करने लगी मैने उससे कहा की धीरे धीरे आवाज़ निकालो नही तो सब जाग जायेगे तो उसने वही किया.

Antarvasna Hindi Sex Story  चुदवाकर पंजाब चली गई

अब मेरा मूड एकदम पागल हो गया था मैने उसके पैर को थोड़ा फैलाया ताकि उसकी चूत थोड़ी पीछे हो जाये और मैने थोड़ा सा थूक लेकर थोड़ा अपने लंड पर और थोड़ा उसकी चूत पर लगाया और अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा उसकी चूत इतनी मुलायम थी की मुझे ऐसा लग रहा था की मेरा पानी निकल जायेगा लेकिन मैने शान्ति से काम लिया और उसे बोला की उसे थोड़ा दर्द होगा चीखना मत बाद मैं बड़ा मजा आयेगा तो उसने हाँ कहा मैने अपने लंड का टोपा को उसकी चूत पर फिट करके धीरे धीरे अपने लंड को मक्खन जैसी कुवांरी चूत मैं पेलने लगा लेकिन मेरा लंड थोड़ा जाकर और फिसला जा रहा था मैने तुरंत थोड़ा थूक लंड पर लगाया और थोड़ा ज़ोर से चूत मैं अपने लंड को पेला इस बार मेरा लंड थोड़ा अंदर घुस गया मुझे भी मेरे लंड पर थोड़ा दर्द महसूस हुआ इधर कुसुम ओह ओह आआईईईईईईईईई करने लगी.

मै उसके गालो पर किस करके उसे शान्त करने की कोशिश करने लगा लेकिन वो मेरे लंड को झेल नही पा रही थी वो अपना पैर थोड़ा इधर उधर करने लगी और मेरा लंड अपनी चूत से खीच कर निकाल दिया मैने पूछा की क्या हुआ तो वो बोली की बहुत दर्द कर रहा है मैं उसकी गांड पर लंड रगड़ने लगा और उसके गालो पर किस करने लगा ताकि वो शांत हो जाये 10-15 मिनिट के बाद मैं उसके गालो पर किस करता रहा तब जा कर वो शान्त हुई मैने दो तीन बार लंड को घूसाने की कोशिश की लेकिन मेरा लंड थोड़ा ही घुस पा रहा था मैने सोचा काफ़ी टाइट चूत है साली की किसी और टाइम इसे चोदूगां क्योकि ज़बरदस्ती करने पर वो चिल्ला देती और हम लोग पकड़े जाते तो मैने उसे धीरे धीरे चोदते चोदते अपना पानी उसकी गांड पर गिरा दिया.

ये सब करते करते काफ़ी देर हो चुकी थी और मैं भी थक चुका था तो मैने लास्ट टाइम उसके होंठो पर जबरदस्त किस किया और उसे अपनी सीट पर जाने के लिये बोल दिया. वो अपनी सीट पर चली गई। अब बस में उसे पूरे सफ़र में सिर्फ निहारता ही रहा ..

धन्यवाद …