मेरी रंडी बहन और उसका चुदक्कड़ ससुर

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम महेश है। में जयपुर का रहने वाला हूँ, जब मैंने चोदन डॉट कॉम की कहानियों को पढ़ा तो मुझे अच्छा लगा और मुझे लगा कि में भी मेरी रियल स्टोरी लोगो को बताऊँ। में और मेरे परिवार में मेरी दो बहनें है। में सबसे छोटा हूँ, मेरी बड़ी बहन 35 साल की है, उसकी शादी गुजरात में ही हो गई है और हमारे गाँव के पास के गाँव में ही रहती है और दूसरी बहन जो 32 साल की है, उसकी भी शादी हो गई थी, लेकिन एक एक्सीडेंट में मेरे जीजाजी की मौत हो गई थी और में गुजरात से बाहर रहता हूँ। में शादी के बाद गुजरात से बाहर जॉब की वजह से चला गया था। मेरे जीजाजी कि मौत हो जाने के बाद में हमेशा मेरी बहन जो दो बहनों में छोटी है और मुझसे बड़ी है, उनका ख्याल रखता था।

अब में जब भी गुजरात जाता था, तो उनसे जरूर मिलता था और उसको मदद भी करता था। उनकी सास की मौत गई है, वो और उसकी एक 5 साल की बेटी और उनका ससुर साथ रहते है। फिर लास्ट टाईम जून में जब में गुजरात गया तो मैंने सोचा कि 2 दिन बहन के घर पर भी रहकर आऊं तो उनको अच्छा लगेगा। फिर में एक दिन जब गुजरात गया तो मैंने सोचा कि 1-2 दिन यहाँ रुक जाऊँ तो बहन को भी अच्छा लगेगा। फिर जब में उनके घर गया, तो वो किचन में खाना पका रही थी। फिर वो मुझे देखकर खुश होकर बोली कि भैया आप कब आए? और कैसे हो? और फिर थोड़ी देर हमारी बात हुई। उनका ससुर घर के पास ही पड़ोसी के पास बैठा था, अब वो भी आ गये थे और फिर हम लोगों ने रात को डिनर साथ में लिया। उनके घर में एक किचन और सामान रखने के लिए छोटा सा कमरा था और एक बड़ा कमरा था, उसमें वो लोग हमेशा सोते थे। उनके घर में बेड नहीं रखा था, क्योंकि घर में मेरी बहन और उनकी बेटी और उनका ससुर रहता था, तो उनको नहीं अच्छा लगता था।

फिर खाना खाने के बाद हम लोगो ने थोड़ी बातें की। अब रात के 11 बज गये थे। फिर मेरी बहन ने कहा कि अभी हम सो जाए, में बेड लगा देती हूँ। फिर बड़े कमरे में एक साईड पर मेरा बिस्तर डाला और बीच में उनके ससुर का और एक साईड में उनका और उनकी बेटी का एक साथ बिस्तर लगा दिया। फिर रात के करीब 1 बजे मैंने जरा सी आवाज़ सुनी तो मेरी नींद खुल गई। तब मैंने पतली सी चादर ओढ़कर रखी थी तो मैंने उसमें से देखा तो मेरी बहन नाईट गाउन में उनके ससुर के बिस्तर पर सोई थी। हो सकता है वो मेरी नींद खुलने के डर से चुपचाप ऐसे ही पड़े हो, लेकिन मेरे दिमाग़ में ख्याल आया कि में उनके ससुर को मार दूँ, लेकिन फिर ख्याल आया कि हो सकता है मेरी बहन को ही पसंद हो और आख़िर में उनके पति की मौत के बाद उनको जरूरत भी हो, तो फिर में भी ऐसे ही पड़ा रहा।

Antarvasna Hindi Sex Story  बहन की ननद के साथ पांच दिन

फिर कुछ 20-25 मिनट के बाद मेरी बहन बैठी और मेरी बहन ने उनके ससुर जो नाईट ड्रेस पहने हुए थे, उसको उतार दी और फिर उनके एकदम सॉफ्ट लंड को चूसने लगी। तो उनके ससुर ने कहा कि आज रहने दे, वो जाग जाएगा तो प्रोब्लम हो जाएगी, लेकिन मेरी बहन ने कहा कि मुझे चाहिए और फिर वो उनके लंड को चूसने लगी और उनका ससुर उसके बूब्स दबाने लगा। फिर थोड़ी देर में ही उनके ससुर का लंड टाईट हो गया, तो तभी मेरी बहन ने तकिए के नीचे से एक कंडोम निकाला और उसके ससुर के लंड पर चढ़ा दिया और किस किया और फिर वो नीचे सो गई और उसका ससुर उसके ऊपर चढ़ गया। फिर उन्होंने मेरी बहन को अपने पैर ऊपर उठाने को कहा तो मेरी बहन ने अपने दोनों पैरो को ऊपर किया, तो उन्होंने वैसे ही एक शॉट में अपना लंड अंदर घुसा दिया। तो मेरी बहन के मुँह में से आहह, ऑश की आवाज निकल गई। अब वो अंदर बाहर कर रहा था और मेरी बहन आह, ऑश, आआहह कर रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद उनके ससुर ने एकदम स्टॉप कर दिया, तो मुझे लगा की शायद उनका जूस बाहर आने वाला है तो वो रुक गये, क्योंकि वो रुकता तो जूस भी रुक जाता और इन्जॉय करने लगता और फिर वो मेरी बहन के बूब्स को दबाने लगे और वापस से धक्के मारने चालू किए। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर कुछ मिनट में वो दोनों शांत हो गये और फिर उन्होंने अपना लंड बाहर निकालकर मेरी बहन की चूत पर किस किया और बोला कि ले अभी इसको निकाल। तो मेरी बहन ने उनका कंडोम निकाला और कपड़े से साफ किया। फिर दूसरे दिन जब उनके ससुर मार्केट में सब्जी लेने गये, तो मैंने ऐसे ही बातों- बातों में मेरी बहन से बात करना चाहा। फिर सब बात करते-करते मैंने अपनी बहन से कहा कि बहन एक बात पूछूँ? तो उन्होंने कहा कि पूछो ना भैया। तो मैंने कहा कि बहन जीजाजी का देहांत हुए 6 साल हो गये है इसके बाद आपको सेक्स की जरुरत नहीं होती? तो उसने कहा कि धत्त्त ऐसी बात नहीं करते। तो मैंने कहा कि बहन में भी एक शादीशुदा आदमी हूँ तो में आपको समझ सकता हूँ। तो वो कुछ नहीं बोली।

Antarvasna Hindi Sex Story  धूमधाम चुदाई हुई ऑफिस के आंटी की

फिर मैंने कहा कि बहन तुम कोई टेन्शन ना लेना, लेकिन पिछली रात जो हुआ मैंने मेरी आँखों से सब देखा है। तो वो हैरान हो गई और मुझसे पूछने लगी कि क्या? तो मैंने कहा कि ये बताओं तुम तुम्हारी मर्ज़ी से उनके साथ करती हो या वो फोर्स करते है? तो वो बोली कि बस एक त्यौहार के दिन उन्होंने मुझे हग कर दिया, लेकिन काफ़ी सालों के बाद कोई मर्द की बॉडी मुझसे टच हुई थी, तो मैंने भी उनको हग किया और फिर हम दोनों गर्म हो गये और ये हो गया और मुझे भी चाहिए था, तो में बाहर जाऊं और कोई देखे और खराब लगे इससे अच्छा है कि घर की बात घर में रहे और तुम प्लीज यह बात किसी को नहीं बताना। फिर मैंने कहा कि में अभी बात कर रहा हूँ तो में समझ सकता हूँ, लेकिन तुम बुरा नहीं मानो तो में ये सब देखकर इतना गर्म हो गया हूँ कि अब मुझसे रहा नहीं जाता है।

फिर मेरी बहन ने मुझसे कहा कि ठीक है तुम मुझसे वादा करो कि मेरे और मेरे ससुर के बारे के किसी को कुछ नहीं बताओगे? तो में भैया आपको भी चान्स दूँगी, लेकिन मेरे ससुर नहीं हो तब। तो मैंने कहा कि नहीं आज रात को हम साथ में करेंगे और तुम्हारे ससुर के सामने करेंगे। तो मेरी बहन ने कहा कि ऐसा नहीं हो सकता है। तो मैंने कहा कि एक काम करो, लास्ट नाईट की तरह तुम लोग आज भी करोंगे, तो में अचानक से जाग जाऊंगा और फिर बोलूँगा कि तुम यह क्या कर कर रहे हो? तो तुम्हारा ससुर शर्मिंदा हो जाएगा और फिर में बोलूँगा, तो वो हाँ भी करेगा और फिर हम तीनों को मज़ा आएगा। फिर हमारे प्लान के मुताबिक रात के वक़्त खाना खाने के बाद सो गये और फिर जैसे ही उनके ससुर को लगा कि अब कोई प्रोब्लम नहीं है तो वो दोनों नंगे हुए और फिर जैसे ही उनके ससुर ने मेरी बहन के बूब्स को दबाना चालू किया। फिर तभी में जागकर उन लोगो के पास आ गया, तो वो हक्के बक्के रह गये। तो तभी मैंने कहा कि यह क्या कर रहे हो? तो उनका ससुर नीचे देखकर ही बैठ गया।

Antarvasna Hindi Sex Story  Chacha Aur Unki Beti Garima

फिर मैंने कहा कि देखो इसमें आपका कोई कसूर नहीं है, आप बेफ़िक्र रहिए, लेकिन आज में भी शामिल होऊँगा। तो उनके ससुर ने कहा कि ठीक है। फिर में उनके ससुर से बोला कि आज में मेरी बहन को चोदूंगा और तुम मेरी मदद करना। फिर मेरी बहन ने मेरे कपड़े निकाल दिए और फिर मैंने उसको नीचे सोने को कहा और उसके ऊपर बैठ गया। फिर मैंने कहा कि में कंडोम के बिना ही चोदूंगा, क्योंकि मुझे कंडोम अच्छा नहीं लगता है और फिर मैंने उससे कहा कि आज चूस जितना दिल चाहे। फिर जब में बहुत ही गर्म हो गया तो मैंने मेरी बहन के ससुर से कहा कि अब आप मेरी बहन के दोनों पैरो को ऊपर करो। फिर मैंने मेरी बहन की गांड के नीचे एक तकिया रख दिया और उसके ऊपर आ गया। फिर मैंने मेरी बहन की चूत में अपना लंड घुसा दिया। तो तभी मेरी बहन बोली कि भैया आआहह, भैया तुम्हारा तो बहुत बड़ा है, प्लीज और जोर से करो और फिर में उसके ऊपर आकर अपना लंड अंदर बाहर करता रहा और वो आहह, आह करती रही।

फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपना सारा जूस उसकी चूत में ही छोड़ दिया। फिर मैंने उससे पूछा कि मज़ा आया ना? तो मेरी बहन बोली कि लाजवाब। फिर मैंने उनके ससुर से कहा कि अब तुम्हारी बारी, तुम चालू करो, में सो जाता हूँ और फिर उसके ससुर ने भी मेरी बहन को चोदा और सुबह फिर से मैंने मेरी बहन चोदा, बस फिर उस रात मैंने और उनके ससुर ने मेरी बहन को खूब चोदा और फिर में वापस आ गया। अब तो मुझे थोड़ी टेन्शन भी थी की शायद मेरी बहन प्रेग्नेंट ना हो जाए, लेकिन हमने 2 महीने तक राह देखी, उनको कोई प्रेंग्नेसी नहीं थी। अब में आज भी जब भी गुजरात जाता हूँ, तो एक बार तो जरुर उनकी चुदाई करता हूँ ।।

धन्यवाद …