बहन की ननद के साथ पांच दिन

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna फिर एक दिन मेरे मोबाईल पर मेरी बहन का फोन आया और उसने कहा कि उसकी ननद का कम्पीटीशन का पेपर है, इसलिए तुम उसे 4-5 दिनों के लिए अपने रूम पर रख लो, तो मैंने कहा कि हाँ जरुर। फिर अगले दिन वो अपना सामान लेकर मेरे रूम पर रहने आ गई। उसका नाम उषा था और वो बहुत सेक्सी और बॉडी वाली लड़की है। में अपने रूम पर अकेला रह रहा था, क्योंकि मेरा रूम मैट अपने घर गया था, क्योंकि उसकी मम्मी बीमार थी इसलिए वो 8-10 दिनों के लिए अपने घर चला गया था। अब में मेरी दीदी की ननद को देखता ही रह गया था। उसकी हाईट 5 फुट 5 इंच थी, उसके बूब्स बड़े-बड़े और सेक्सी थे। फिर मैंने उससे कहा कि तुम रूम में पढाई करो, में अपनी गर्लफ्रेंड से मिलकर आता हूँ। फिर वो गर्लफ्रेंड का नाम लेते ही मुस्कुराने लगी और उसके बारे में पूछने लगी, तो मैंने उसे अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में सब बता दिया।

फिर में अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने चला गया, वो रूम पर अकेली थी। फिर जब में वापस आया तो मैंने रूम में देखा कि वो अपने बॉयफ्रेंड से मोबाईल पर बात कर रही थी। अब उसने अपना एक हाथ उसकी पेंटी में डाला हुआ था और वो मजे ले रही थी। अब मेरी नजर पड़ते ही मेरा 7 इंच का कुंवारा लंड खड़ा हो गया था। अब में अपनी किस्मत पर हैरान हो गया था और सोचने लगा था कि उसकी चूत में अपना लंड कैसे डालूँ? फिर में बिना आवाज़ किए उसे देखता ही रहा। फिर कुछ देर के बाद उसने अपनी सलवार का नाड़ा खोला और जल्दी-जल्दी अपना एक हाथ अपनी चूत पर चलाने लगी। अब मेरी तो हालत खराब होने लगी थी, अब मैंने भी अपना लंड पकड़ लिया था। फिर मैंने अपने मोबाईल से उसकी पूरी क्लिप शूट की, तो तभी मेरे मोबाईल पर मेरी गर्लफ्रेंड के फ़ोन की रिंग बज उठी, तो उसे एक झटका लगा और उसने मुझे देख लिया।

Antarvasna Hindi Sex Story  पूजा मेडम की बड़ी गांड

अब वो जल्दी से अपने कपड़े ठीक करने लगी थी, तो मैंने ऐसा शो किया कि जैसे मैंने कुछ देखा ही नहीं है। अब रात हो गई थी और उसने कहा कि खाना वही बनाएगी। फिर मैंने कहा कि ओके, में तुम्हारी मदद कर देता हूँ और फिर वो किचन में चली गई और मुझे बुलाकर कहा कि आप क्या खाना चाहते हो? और कौन सी चीज कहाँ रखी है? तो मैंने उसे सब बता दिया और उससे कहा कि बहुत दिनों के बाद किसी लड़की के हाथ का खाना खाने को मिलेगा। फिर उसने कहा कि जब आपकी शादी हो जाएगी तो रोज लड़की के हाथ का खाना मिलेगा। फिर मैंने लंबी साँस भरते हुए कहा कि पता नहीं वो दिन कब आएगा? तो उसने कहा कि कोई बात नहीं तुम मुझे 4-5 दिन के लिए अपनी पत्नी ही समझ लो, में तुम्हें रोज अपने हाथ का खाना खिलाऊँगी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने कहा कि पत्नी सिर्फ़ खाना ही नहीं बनाती अपने पति के लिए और भी बहुत काम करती है। फिर वो बोली तुम मुझे 101% अपनी पत्नी ही समझो और मेरे साथ जो चाहो वो कर लो। अब मेरा लंड फनफनाने लगा था। अब वो खड़ी होकर गैस की तरफ अपना मुँह करके रोटी बना रही थी। फिर मैंने पीछे से अपने दोनों हाथ उसके बूब्स पर रखे और प्यार से उसके बूब्स को सहलाने और दबाने लगा। अब मेरा लंड उसके हिप्स के बीच में लगा हुआ था। अब वो सिसकियाँ लेकर मजे करने लगी थी और बिना घूमे रोटियाँ बनाती रही थी और मेरे लंड के बारे में मुझसे पूछने लगी थी। फिर मैंने उससे पूछा कि उसकी चूत पर बाल है या नहीं? तो उसने कहा कि मेरे पास हेयर रिमूवर है, में बाल साफ कर लूँगी। फिर मैंने कहा कि क्या मुझे अपने हाथ से तुम्हारी चूत के बाल साफ करने का मौका मिल सकता है? तो वो कहने लगी कि ये भी कोई पूछने की बात है, लेकिन पहले खाना खाकर फ्रेश हो जाते है और में 5 दिन के लिए सिर्फ़ तुम्हारी हूँ, जल्दबाज़ी की क्या जरूरत है?

Antarvasna Hindi Sex Story  चूत चुदाई से बिगड़ी मेरी हालत

फिर वो कहने लगी कि में घर से यही प्लान बनाकर आई थी कि आपके लंड से खूब चुदवाऊंगी और पूरा मज़ा लूँगी, तो मैंने कहा कि में तो धन्य हो गया। फिर हमने खाना खाया और 10 मिनट तक दूर बैठकर बातें करने लगी और कहने लगी कि मेरी मूवी जो आपने बनाई है, वो दिखाओ। अब उसे सब पता लग गया था। अब वो जानबूझकर मुझे पटाने के लिए अपनी सलवार में हाथ चला रही थी। तो मैनें कहा कि वाह क्या बात है? तुम तो बहुत चालक हो और मुझे चोदना चाहती हो, तो तभी वो बोली कि बस बातें बहुत हो गई, अब काम की बात करते है। अब ग्रीन सिग्नल मिलते ही मैंने कहा कि तुम अपनी शर्ट उतारो। फिर उसने अपनी शर्ट उतार दी और अपनी ब्रा खोलकर मेरे बेड के ऊपर सो गई। फिर में तेल लगाकर उसके बूब्स की मसाज करने लगा। अब वो तो जैसे स्वर्ग में ही पहुँच गई थी और अब वो अपने मुँह से सिसकारियाँ भरने लगी थी। अब में उसके बूब्स को चूसने लगा था।

Antarvasna Hindi Sex Story  चाचा चाची की चुदाई देखकर

फिर मैंने अपना 7 इंच का लंड उसे दिखाया, तो वो जल्दी से मेरे लंड को अपने मुँह मे डालकर लॉलीपोप की तरह चूसने लगी। फिर मैंने उसकी सलवार खोल दी और उसकी चूत को चाटने लगा। फिर वो बोली कि अब सहन नहीं हो रहा है, प्लीज अपना मोटा लंबा लंड मेरी चूत के अंदर डाल दो और मुझे जी भरकर चोदो। फिर मैंने कहा कि ओके। फिर मैनें अपना 7 इंच लम्बा और मोटा लंड उसकी चूत के ऊपर रखा और एक झटका दिया तो मेरा लंड उसकी चूत में पूरा का पूरा चला गया और वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी। फिर मैंने अपने धक्को की स्पीड धीरे-धीरे तेज की तो थोड़ी देर के बाद उसे भी मजा आने लगा और वो भी अपनी गांड उठा-उठाकर मेरा साथ देने लगी। अब में झड़ने के करीब आ गया था और इस बीच वो एक बार अपना पानी छोड़ चुकी थी। फिर 30 मिनट तक लगातार चुदाई करने के बाद मैंने अपना लंड बाहर निकालकर अपना पूरा पानी उसके मुँह पर गिरा दिया, जिसे वो पूरा चाट गई। फिर थोड़ी देर तक हम दोनों ऐसे ही शांत पड़े रहे। फिर उस रात हमने बहुत मजे किए और मैंने उन 5 दिनों में उसे बहुत बार चोदा और बहुत इन्जॉय किया ।।