पाएल की चूत का पायल बजायी

हेलो फ्रेंड, इट्स मी रेहान. मुझे सेक्स स्टोरीज पढना और लिखना बहुत पसंद है और मुझे अच्छा लगता है. Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai नाउ अगेन विथ माय हॉट स्टोरी. जिसमे मैं और मेरी कजिन सिस्टर के सेक्स के बारे में है. इस कहानी से पहले मैंने आप से अपने और अपनी भाभी के साथ दही स्नान की कहानी को शेयर किया था. जब मैं भाभी को पूरी रात चोदने के बाद उठा, पायल (नाम चेंज) जो मेरी कजिन सिस्टर है. उसने मुझे देख लिया. क्योंकि जब मैं नीचे आ गया था, तो भाभी ऊपर छज्जे से मुझे फ्लाइंग किस दे रही थी. मैंने भी उनका फ्लाइंग किस एक्सेप्ट किया और जेसे ही मैंने भाभी की किस को एक्सेप्ट किया, पायल ने मुझे देख लिया और इशारे करके अपनी तरफ बुलाने लगी. फिर उसकी तरफ गया, तो वो कहने लगी.. मैंने सब देख लिया है. कि तुम दोनों क्या कर रहे थे? अब अगर तुम दोनों चाहते हो, मैं किसी को कुछ ना बताऊ. तो तुम्हे मेरा एक काम करना पड़ेगा. मैं थोड़ा सा घबरा गया और मैंने कहा – बता. तू तो मेरी कजिन है. वो कहने लगी – ना ना ना… कजिन मत बोलियों आज… आज से हमारा ये रिश्ता ख़तम और दूसरा शुरू. मैंने कहा – भाई ठीक है. जेसे तेरी मर्ज़ी.

फिर उसने मुझसे मेरा सेल नंबर मनगा. मैंने पूछा – क्यों चाहिए? तो वो कहने लगी – मैं तुम्हे कॉल करुँगी और फिर बताउंगी, कि मैं क्या चाहती हु. मैंने उसको अपना नंबर दे दिया. फिर मैं अपने घर पर आ गया. रात को उसकी का कॉल आया और मैंने कॉल पिक किया और फ़ोन उठाते ही, उधर से उसका जवाब आया. कैसे हो मेरी जान? मैंने तो उसकी आवाज़ को सुनते ही हैरान हो गया. मैंने कहा – क्या कह रही हो? तो वो कहने लगी – सुनाई नहीं दे रहा क्या? दौबारा बोलू क्या? मैंने कहा – हाँ, जरा फिर से बोलो. उसने फिर से बोला – कैसे हो मेरी जान? मैंने सुन कर एकदम से खुश हो गया और मन ही मन में कहा – क्यों खड़ा कर रही हो? तो वो बोलने लगी – क्या? मैंने कहा – कुछ नहीं. तो वो कहने लगी. अब समझ गया – क्या चाहती हो? मैंने कहा – आज तो तुमने जिन्दगी बना दी. वो कहने लगी, तुम्हारे चाचा चाची किसी प्रोग्राम के सिलसिले में दो दिन के लिए बाहर जा रहे है. मैं तुम्हे अभी कॉल करुँगी, तुम आ जाना और हाँ; सामान जरुर लेते आना. मैंने कहा – क्या सामान? तो वो बोलने लगी – क्या बुद्दू? सामान मतलब, कंडोम लेते आना. मैंने कहा – ठीक है.

Antarvasna Hindi Sex Story  पहली चुदाई बॉयफ्रेंड के साथ

फिर मैं उसकी कॉल का वेट करने लगा. शाम को करीब ४ बजे उसकी कॉल आई, कि घर पर आ जाओ. सब लोग चले गये है. मैंने जल्दी – जल्दी से शॉप क्लोज की और उसके घर की तरफ चल दिया. उसकी गली के बाहर जब पंहुचा. तो मैंने उसको कॉल कर दिया, कि मैं तुम्हारी गली के बाहर खड़ा हु. वो फ़ोन पर बोली, कि आ जाओ. घर पर कोई नहीं है. फिर मैं उसके मकान के जीने पर चड़ने लगा, तो ऊपर से खड़े – खड़े बोली – जल्दी आ जाओ. और जीने की कुण्डी लगा दो. फिर मैंने जीने की कुण्डी लगा दी और ऊपर चड़ने लगा. तो पायल मुझे मिली और उसने सिर्फ टॉवल लपेटा हुआ था. उसका पूरा बदन भीगा हुआ था. जिसे देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा और मैं टॉवल खीचने की कोशिश की. तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहने लगी, मेरी जान थोड़ा … थोड़ा सा सबर करो. फिर मैंने उसे कहा – मेरी जान तड़पाओ मत. प्लीज अब आ भी जाओ. और मैंने उसे अपनी तरफ अपनी बाहों में खीच लिया और एकदम से उसका टॉवल खीच लिया.

और वो पूरी नंगी हो गयी. मेरे सामने उसका गोरा – गोरा दूध सा बदन देख कर, मैं तो बस पागल सा हो गया. मैंने उसको गोदी में उठाया और उसके बेडरूम में ले गया. मैंने उसके पुरे बदन को चूमने लगा. उसके होठो को तो मैं दबा कर चूमने लगा. अब उसकी सिस्कारिया निकलने लगी थी. वो काफी तेज – तेज मोअनिंग करने लगी थी अहहाह अहहाह अहहाह अहहाह अहहहः अहहः अहहः ऊऊऊ ऊऊओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्.. जान… ऊओह्होहोहो… जान… जोर से चूचो को चुसो… मस्ती में चुसो… फिर मैंने दो ऊँगली उसकी कोमल गुलाबी चूत में डाल दी, तो वो एकदम से उछल पड़ी और भी तेज सिस्कारिया लेने लगी. फिर मैंने उसे सीधा लिटाया और उसकी दोनों टांगो को पकड़ लिया और उनको खोल दिया. फिर मैंने अपनी जीभ को उसकी चूत के अन्दर डाल दिया और जोर से चाटने लगा. वो पागल हो उठी और मेरे बाल को पकड़ कर अपनी चूत पर मेरे मुह को रगड़ने लगी. वो चिल्ला रही थी फक मी… मी हार्ड… फक मी हार्ड… हार्डर… ऊऊऊ ऊऊओ एस ऊऊऊ… मैं जोर – जोर से पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर चाटने लगा था. वो चिल्लाते हुए उछलने लगी थी. फिर थोड़ी देर में, मैंने उसे अपना लंड चूसने को दे दिया.

Antarvasna Hindi Sex Story  दोस्त के साथ मिलकर उसकी माँ

और उसने एक झटके में, मेरा खड़ा हुआ लंड अपने मुह में डाल लिया और लोलीपोप की तरह से चूसने लगी. वो अब मेरे अन्डो को भी चाट रही थी. अब मैंने उसे सीधा कर के लिटा दिया. फिर उसने अपनी टाँगे खुद ही खोल ली और उसकी चूत मुझे बिलकुल खुली हुई नज़र आने लगी. फिर मैंने थोड़ा और उसकी चूत को चाटा और फिर अपने खड़े लंड को उसकी चूत के मुह पर रखा और एक झटका मारा, तो फिसल कर अलग साइड में निकल गया. फिर मैंने देखा तो उसकी चूत एकदम सील पेक थी. जिस वजह से मेरा लंड बार – बार फिसल रहा था. फिर मैंने उसे ऐसे ही लिटाया और किचन से कटोरी में थोड़ा सा तेल ले आया. फिर मैंने उसकी चूत में दो उंगलिया को तेल में डुबो दिया और फिर अपनी चिकनी उंगलियों को उसकी चूत के अन्दर बाहर करने लगा. मेरे ऊँगली करने से उसकी चूत को बहुत चिकनी हो गयी और फिर मैंने देर ना करते हुए, अपने लंड को उसकी चूत पर सेट किया और उसके होठो को अपने होठो में दबा लिया और एक जोर का झटका मारा, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में चले गया. उसने चिल्लाना शुरू कर दिया, पर वो चिल्ला नहीं पायी. क्योंकि मैंने पहले ही उसके होठो को अपने होठो में दबा लिया था. फिर मैंने नीचे देखा, तो उसकी चूत से खून बह रहा था.

फिर मैंने थोड़ी देर वेट किया और उसे पोजीशन में रहा और फिर एक जोर का धक्का मारा, तो इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ, उसकी चूत की बच्चे दानी को जा कर टकरा गया. उसने फिर से चिल्लाना चाह, लेकिन वो चिल्ला नहीं सकी. फिर थोड़ी देर मैं ऐसे ही रुका रहा, तो उसे भी थोड़ा आराम हुआ. फिर उसने नीचे से अपनी गांड को उछाल कर इशारा किया, कि अब दर्द कम हो गया है. फिर मैंने अपने हाथो से उसकी दोनों टांगो को फेलाया और थोड़ा सा थूक अपने लंड पर और थोड़ा सा उसकी चूत पर लगाया. मैंने फिर से एक झटका दिया और इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत की गहराई में उतर गया. और मैं दबादब उसकी चूत में लंड डाल कर उसे चोदने लगा. फिर जब मैंने उसे कहा – अब तुम मेरे ऊपर आ जाओ. तो हम दोनों की नज़र नीचे गयी, तो हमने देखा, की पलग की सफ़ेद चादर लाल हो चुकी थी. वो कहने लगी, कोई बात नहीं. घबरा क्यों रहे हो? नयी चादर बिछा दूंगी. तुम करते रहो. ये सब सुनकर मैंने उसके होठो को चूम लिया और उसने मेरे लंड को अपने कोमल हाथो से पकड़ कर अपनी चूत पर टिका लिया. फिर वो मेरे लंड के ऊपर बैठ गयी और वो लम्बी – लम्बी सिस्कारिया ले रही थी अहहाह अहहाह अहहाह अहहः उम्म्मम्म उम्म्म्मम्म्म्म अहहः अहहहहः

Antarvasna Hindi Sex Story  कामवाली का प्यार

फिर वो जोर – जोर से उछल कर सिस्कारिया लेते हुए, मेरा पूरा लंड अपनी चूत में लेने लगी. फिर मैंने उसे उसके बालो से पकड़ कर आगे को झुकाया और उसके होठो को चुसना शुरू कर दिया. वो ऊपर से धक्का लगा रही थी और मैं नीचे से धक्के दे रहा था. फिर मैंने उसके चूचो को चुसना स्टार्ट किया और उसकी पिंक निप्पल भी एकदम खड़े हो गये थे.

फिर मैंने उसे उल्टा किया और पीछे से लंड डालकर उसकी चूत को चोदने लगा. वो मेरी गांड पर लगाकर आगे खीचते हुए धक्का लगाने को कह रही थी. फिर मैंने धक्का और भी ज्यादा तेजी से लगाना शुरू कर दिया और वो झड़ गयी और उसकी चूत ने खूब सारा गाड़ा – गाड़ा वीर्य छोड़ा. फिर कुछ देर बाद, मेरा भी निकलने को हुआ, तो मैं दो चार धक्के इतने पावरफुल मारे, कि पलंग ही हिल गया और फिर मैंने आहाहाह अहहः अहहाह हहहः करते हुए अपने लंड को बाहर निकाल लिया और उसकी गांड पर ही अपना सारा वीर्य निकाल दिया. वो इस चुदाई से बहुत खुश थी और बार – बार मेरे झड़े हुए लंड को देख रही थी.

फिर उसने दौबारा मेरे लंड को चूसा और इस बार तो वो और भी ज्यादा प्यार से मेरे लंड को चूस रही थी. फिर क्या हुआ.. ये सब बाद में बताऊंगा. पहले आप सब मुझे ये बताओ, कि आप को मेरी ये कहानी कैसी लगी. मुझे सब लोगो के कमेंट का इंतज़ार रहेगा… आप लोग अपने कमेंट भेजे जरुर…