जीजा ने मेरी चूत मे गरम लंड डाली

सुबह ७ बजे हमारी नीद खुली, Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai तो मैंने देखा कि जीजू एकदम नंगे- धंगे ड्रेसिंग टेबल के सामने अपने लंड की शेव करने में लगे थे. मैंने देखा, कि लंड करीब ८.३ इंच से कम का नहीं था और मैं समझ नहीं पा रही थी. कि कैसे वो मेरी चूत में घुस कर हंगामा मचाकर समाया था और कैसे वो अपनी टोप से गरम वीर्य के गोले छोड़ गया. जीजू का लंड देख कर, मेरी उससे खेलने की इच्छा हुई. मैं उनके पीछे गयी और उनकी छाती पर हाथ फेरने लगी और फिर उनके होठो पर किस कर दिया और दुसरे हाथ से उनका लंड पकड़ लिया. पर सुबह थी, तो जीजू बोले जीजू – हाई मेरी जान, रात को क्या कम चुदी हो. जो अभी इतनी सुबह से ही गरम हो गयी हो.मोना – अरे डार्लिंग, यदि चुदाई की प्यास ऐसे ही बुझ जाती तो क्या बात थी. ये आपका लंड देखकर, तो किसी सती- सावित्री की चूत में भी खुजली होने लगेगी.जीजू – तो मेरा लंड इतना पसंद आ गया क्या?
मोना – बस, एक बार इसका पूरा मज़ा तो आने दो. जीजू आपने तो बस बिस्तर पर ही चोद दिया. किसी और स्टाइल में भी तो चोदो. ऐसा तो अरविन्द भी कर लेते है.

जीजू – तो बोलो ना, मेरी जान. कैसे कहो.. चोद देंगे. यदि कहो.. तो किसी और को भी ले आऊ. उसकी भी चूत मार देंगे. तुम्हारे साथ- साथ. हमें तो चूत के प्यास है.

मोना – तो आज की छुट्टी ले लो. हम पुरे दिन आपके जिस्म से खेलेंगे.

जीजू – नहीं जान. आज तो ऑफिस एक बार तो जाना ही पड़ेगा.

मोना – और दिन भर मैं तड़पती रहू,

जीजू – मेरी जान, तड़पे तो हम भी थे. जिस दिन अरविन्द ने आपके साथ सुहागरात मना कर आपकी चूत फाड़ डाली थी.

मोना – ठीक है. आप बाथ कर लो. मैं आपके लिए ब्रेकफास्ट बना देती हु.

जीजू – मेरी जान, ब्रेकफास्ट में तो हम आपको लेंगे.

मोना – मुझे क्या खाओगे.. मुझ में क्या है ऐसा. वैसे भी आप वेज है.

Antarvasna Hindi Sex Story  बीवी के साथ हनिमून

जीजू – मेरी जान, कितना नॉन-वेज हु. वो तो आज रात को पता चलेगा तुझे. पर अभी तो मैं नहाने जा रहा हु.

मैं ज्यू ही जाने लगा, मोना बोली – क्या अकेले नहाने जा रहे हो. मैंने कहा – मेरी जान. टब ही चलना. ये कहकर हम दोनों ही बाथरूम में चले गये और दोनों नंगे हो गये.

जीजू – हाई मेरी जान, क्या चूत है. जी करता है ..इसे पी जाऊ.

ये कहते हुए, उसने अपने होठ मेरी चूत पर लगाकर जोर- जोर से चूसने लगा. मर कर रहा था, कि डंडा या कोई मोटी चीज़ चूत में ले लू.

अब जीजू, मेरे बूब्स और चूत पर पूरी शम्पू की बोतल खाली कर दी और मुझसे से चिपटकर गन्दी- गन्दी बातें बोलने लगे. वो मेरी बहन और भाभी के लिए भी कह रहे थे. यार मोना, तेरी भाभी भी बहन की लौड़ी मस्त है. पता नहीं है, इसकी माँ को चोदु. तेरा भाई क्या चोदता होगा. उस पर मैं चुपचाप थी, क्योंकि मुझे मज़ा आ रहा था. अब जीजू ने मुझे एक बाल्टी पर बैठाया और अपने लंड को मेरे मुह में डाल दिया. मैं लंड चूसने लगी. पर अब मेरी चूत को गरम पानी चाहिए था. सो, मैंने लंड को मुह से निकाल दिया और बिना कुछ कहे…बेडरूम में चली गयी और लेट गयी और जीजू से बोली –

मोना – अरे यार, मेरे चूत की तड़प को तो देखो. इतना कहना ही था, कि जीजू मुझपर पिल पड़े और अपने लंड का सुपाडा मेरी चूत पर रगड़ने लगे. फिर, मैं उनकी जांघो पर बैठ गयी और जीजू का पूरा लंड मेरी चूत की डेप्थ नापने लगा. मैं मस्त थी और हम बहुत देर तक चोदम- चुदाई का खेल खेलते रहे थे. अब जीजू का सारा वीर्य मेरी चूत में लावे के जैसे निकल गया. मेरी तो जान ही निकल गयी, उसके वीर्य से. लेकिन, अब मुझे अपने औरत होने का अहसास होने लगा था. जीजू ऑफिस चले गये. मैं दोपहर में सिर्फ ब्रा और अंडरवियर में सो रही थी. अचानक डोरबेल बजी और मैंने डोर खोलकर देखा, तो जीजू गेट पर थे. उन्होंने आते ही मुझे गोद में ले लिया और किस करने लगे. वो मुझसे बोले – चलो जान, कहीं घुमने चलते है. रात को हम डिनर करके लौटे. तो जीजू ने लेमन आइसक्रीम ली. मैं समझ नहीं पायी, कि ये सब क्यों लिया.

Antarvasna Hindi Sex Story  दूल्हे ने दुल्हन की दोस्त को चोदा

हम घर लौटे, तो जीजू ने बोला – अब हम डिनर करेंगे.

मोना –डिनर तो हम करके आ रहे है ना.

जीजू – मेरी जान, भूल गयी.. अभी मैं आपका नॉन- वेग डिनर लूँगा.

मैं कपड़े चेंज करने ऊपर गयी. मैंने अपने सारे कपडे खोलकर थोडा चूत पर स्प्रे लगाया. कि जीजू एकदम मेरे पीछे से आये और अपने सारे कपड़े उतार दिए.उन्होंने मुझे डाइनिंग टेबल पर लिटा दिया. अब मैं समझ गयी, कि वो मुझे आज क्रीम लगाकर मुझे चोदेंगे.

जीजू – मेरी जान, आज आपको पता चलेगा. कि एक मर्द औरत का डिनर कैसे करता है.

मोना – चलो देखते है. और एक हिंदी गाना गुनगुनाने लगी “मोरे साजन.. तोहे भूख लगी, तो पुड़ी, कचोडी, रसगुल्ला बन जाउंगी”.

जीजू ने मुझे डाइनिंग टेबल पर पूरा नंगा लिटाकर खुद भी पुरे नंगे हो गये और मेरे बूब्स पर आइसक्रीम लगा दी और चूसने लगे. ठंडी- ठंडी आइसक्रीम से मेरे तन-बदन में आग सी लग गयी. मैंने अपनी चूत में एक ऊँगली डाली और उनके लंड का अहसास करने लगी.

जीजू – अहह मेरी जान. तेरे बूब्स बड़े मस्त है. सेल एकदम शिल्पा की जवानी जैसे लग रहे है. क्या बात है….

मोना – हाँ जीजू, आपका लंड भी तो जॉन इब्राहीम से कम नहीं है. अहहः जीजू चोदो ना मुझे.. पता नहीं .. लाइफ में फिर ऐसे चुदाई कब होगी. मेरी आग बुझा दो मेरे राजा…

जीजू कुर्सी पर बैठकर मेरे बूब्स पी रहे थे. उसकी एक ऊँगली मेरी चूत पर थी. तो मेरा हाथ उनके बालो में.

अब मेरी लंड चूसने की बारी थी. जीजू अब बेड पर आ गये और पैर चौड़े कर लिए. मैं ऊपर बैठकर ६९ की पोजीशन में लंड चूसने लगी थी.

जीजू – आहाहाहा आआआ ऊऊऊऊऊ एस एस एस अयायायायाया हु … मेरी जान … क्या हुआ? लगता है … तू बड़े दिनों से लंड की प्यासी है… मुझे लगा था, कि तेरा काम एक लंड से नहीं चलेगा…

Antarvasna Hindi Sex Story  बिहारी चिकनी चूत को चोद के लाल बनादिया

अब मोना मेरे ऊपर बैठ कर बोली – सच कहू जीजू. मेरी दो आदमियों से एक साथ चुदवाने की बड़ी इच्छा है.

जीजू – क्या पहले भी चुदी हो?

मोना – किसी से मत कहना.. आप को बता देती दू.

जीजू – हाँ, मेरी जान बोलो.

मोना – मैं अरविन्द के बॉस से भी चुदी हु.

जीजू – हेन्न्न… और अरविन्द ने कुछ नहीं कहा.

मोना – उसने अपने प्रमोशन के लिए मुझसे ये सब करवाया.

ख़ैर, मैं तुम्हे अपने एक फ्रेंड से चुदा दूंगा, ओके?

मोना – जीजू, कल रात में

इतना कहकर, मैं जीजू के ऊपर बैठ गयी और जीजू ने लेमन और सुगर मेरे बूब्स पर लगाया. अब वो मेरे बूब्स को जोर – जोर से पीने लगे.

थोड़ी देर बाद, जीजू ने कहा – मोना, अब मैं तुझे डौगी स्टाइल में एकदम फ्री चोदुंगा. मैं एकदम कुत्तिया बन गयी.

पर जीजू बिस्तर से उठे और उनका ९ इंच लम्बा लंड हिल रहा था. वो ड्रेसिंग टेबल एकदम बेड के पास ले आये और अब अपने लंड पीछे से मेरी चूत में डाल दिया.

मोना – ऊऊऊईईई म्मम्मम्मम्म

जीजू – क्या हुआ जान, रास्ता तो साफ़ है. फिर क्या …

मोना – जरा धीरे से डालो ना… ये कोई सुरंग नहीं है.

और जीजू अब धक्के मार रहे थे.

मेरे मुह से अहहहहः आआआ ऊऊऊऊ ऊऊओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् अहः यया यया आया मज़ा आ रहा है जीजू और जोर से … अहहहह्मा

जीजू – ले मेरी जान और जोर से ले ले. मेरे लंड को अपनी चूत में ले ले … अहहः अहहः फक फ्क्फ़ फक फक.

करीब ३० मिनट तक धक्के के बाद, मैं पूरी तरह से चुद गयी और उन्होंने अपना सारा गरम वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया.

हम दोनों निढाल होकर बिस्तर पर पड़ गये. इस तरह से मेरी चुदाई का मज़ा जीजू ने लिया और मुझे पता चला, कि मर्द क्या होते है!