निप्पल डिम्पल के

हैल्लो दोस्तों.. में उम्मीद करता हूँ कि यह बहुत अच्छा टाईम है आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी बताने का और इसलिए में नाईटडिअर डॉट कॉम पर आप सभी के सामने मौजूद हूँ। Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai आप ही की तरह में भी इस साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ। दोस्तों मेरा नाम मोहित है और में कानपुर का रहने वाला हूँ।

दोस्तों यह बात उस समय की है जब में कुछ दिनों की छुट्टियों पर अपने घर बहुत दिन के बाद आया था। तो घर पर मेरी बहुत खातिरदारी हुई थी। मेरे घर के पास में एक पंजाबी फेमिली रहती है। वो अंकल और मेरे पापा एक ही जगह पर काम करते है। हमारी उनकी फेमिली से एक बहुत अच्छी जान पहचान है.. मतलब कि हमारा एक दूसरे के घर पर आना जाना लगा रहता है। उनके घर में 3 बच्चे है एक बड़ा लड़का जो दिल्ली में है और बाकी दोनों लड़कियां है जो लगभग एक ही उम्र की ही है। उसमे से बड़ी वाली का नाम सिम्पी और दूसरी डिंपल है और वो दोनों ही देखने में बहुत गोरी है और फिगर भी दोनों का अच्छा है लेकिन डिंपल का फिगर बहुत मस्त था।

मेरे जितने भी दोस्त थे जो वहीं पर रहते थे और सभी को पता था कि दोनों ही चालू लड़कियां है क्योंकि में तो बाहर ही रहता था और कभी कभी ही घर पर आता था और उन्हें फोन पर बात करते हुए तो में भी देखता था। शाम के समय हम बॅडमिंटन भी खेलते थे.. मुझे बहुत अच्छा लगता था जब डिंपल भाग भागकर शॉट मारती थी तो उसके बड़े बड़े बूब्स हिलते थे और में उन्हें हिलता हुआ देखने के लिए उसे बहुत दौड़ता था। फिर एक दिन रात को मुझे नींद नहीं आ रही थी तो में उठा और छत पर चला गया। उस टाईम रात के 2 बज रहे थे और में कान में हेडफोन लगाकर म्यूज़िक सुन रहा था। फिर अचानक अपनी छत के पास से मुझे किसी के फुसफुसाने की आवाज़ आई और में धीरे धीरे उस और गया तो देखा कि वो डिंपल ही थी जो किसी से बात कर रही थी.. लेकिन मुझे लगा कि वो अपने बॉयफ्रेंड से बात कर रही होगी.. लेकिन कुछ देर बाद पता चला कि कोई और लड़का नीचे खड़ा हुआ है और वो अपनी छत पर खड़ी होकर उसी लड़के से बात कर रही है।

तभी यह देख मुझे एक शरारत सूझी और मैंने अपना मोबाईल निकाला और उससे कॅमरे का फ्लश मार दिया जिससे लगे कि कोई उसकी पिक्चर ले रहा है। तभी बात करते करते वो डर गयी और वो लड़का भाग गया और फिर कुछ देर बाद वो भी डरते डरते अंदर जाने लगी। तभी मैंने उसे आवाज़ लगाई कि डिंपल नींद नहीं आ रही है क्या? रात के दो बजे है। तो वो बोली कि नहीं बस ऐसे ही। फिर मैंने कहा कि हाँ जो तुम कर रही थी वो तो मेरे मोबाईल में आ ही चुका है। तभी उसे समझने में ज़्यादा देर नहीं लगी और वो बोली कि तुम्हारा क्या मतलब? फिर मैंने कहा कि तुम्हे मतलब तो कल सभी से सामने पता चलेगा। फिर वो बहुत डरकर बोली कि भैया प्लीज़ डीलीट कर दो वो बस ऐसे ही था.. प्लीज़। फिर मैंने शरारती अंदाज में कहा कि अगर में यह पिक्चर किसी को दिखाता हूँ तो मुझे कुछ नहीं मिलेगा और अगर नहीं दिखाता तो भी कुछ नहीं मिलेगा.. तो में क्या करूं? तभी उसने बोला कि आपको क्या चाहिए? फिर मेरी शरारत और बड़ गई और मैंने बोला कि तुम अपना टॉप और ब्रा ऊपर करो। तभी वो यह बात सुनकर चकित हो गई और मना करने लगी।

Antarvasna Hindi Sex Story  मेरी बीवी प्राइवेट रंडी

तो मैंने भी कहा कि ठीक है जाओ आराम से सो जाओ और कल के लिए बहाना ढूंड लो। फिर यह बात सुनकर उसने डरते डरते अपनी आंखे बंद कर ली और टॉप, ब्रा ऊपर कर दी में दूर अपनी छत पर था तो छू नहीं सकता था बस मैंने जी भरके उसके बूब्स देखे। फिर मैंने बोला कि जाओ अब सो जाओ में पिक्चर तुम्हारे सामने ही डिलीट कर दूँगा और में सही मौके की तलाश करने लगा 2-3 दिन बाद ही आंटी मेरे घर पर आई ऐसे ही गप्पे मारने के लिए। मुझे भी मौका हाथ लगा में घर पर बहाना बनाकर उनके घर पर चला गया और साथ में कंडोम भी लेकर गया ये सोचकर कि आज तो उसे जरूर चोदूंगा।

सिम्पी भी कॉलेज गई थी तो एक बहुत अच्छा मौका था.. लेकिन बस 1 या 1.30 घंटे का ही था जो मेरे लिए बहुत था। तभी मुझे देखकर डिंपल थोड़ा डर गई और बोली कि मम्मी तो आपके घर पर ही गई है तो मैंने कहा कि मुझे तुम्हारे सामने पिक्चर डिलीट करनी है। तो वो बोली कि हाँ अभी कर दीजिए ना प्लीज़। तभी मैंने उसे बिना कुछ कहे अपने एक हाथ को अचानक से आगे बढ़ाकर उसके बूब्स दबा दिए.. लेकिन वो डरकर पीछे हट गई। मैंने कहा कि देखो तुम्हारे पास एक यही रास्ता है अगर तुम मेरा साथ दो तो तुम भी खुश और में भी। फिर वो मना करने लगी तो मैंने भी कहा कि ठीक है तो तुम अभी से तुम दो चार बहाने सोचना शुरू कर दो। तभी उसने डरते डरते मेरा इशारा समझ कर अपना टॉप और ब्रा उतार दिया और उसके बूब्स अब मेरे सामने लटक रहे थे.. मैंने उसके बूब्स को दबाया और धीरे धीरे उसके निप्पल को अपने मुहं में भरकर चूसने लगा। फिर 15 मिनट बूब्स चूसने के बाद मैंने उसे लेटने को कहा तो वो फिर से मना करने लगी और इस बार मुझे बहुत गुस्सा आ गया और में उठते ही बोला कि मुझे तुमसे कोई काम नहीं है जाओ और अब अपने घर पर जवाब देना और ये कहकर में जाने लगा। तभी यह बात सुनकर वो जल्दी से आँखे बंद करके लेट गई.. उसके बूब्स खुले हुए थे।

Antarvasna Hindi Sex Story  सफर में चुदाई की दास्तान

तभी उसका इशारा पाकर में वापस आया और अपनी टी-शर्ट उतारकर उसके ऊपर ही लेट गया और उसके होंठो को किस करने लगा। में उसे स्मूच कर रहा था और उसके बूब्स दबा रहा था। उसके बूब्स मेरी छाती से टच होकर दब रहे थे और मेरी तो जैसे जान ही निकली जा रही थी। फिर बहुत देर तक स्मूच करने के बाद मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी चूत के ऊपर रख दिया। उसकी जिन्स के ऊपर से ही और अपने हाथों से उसकी चूत को ऊपर से ही दबाने लगा.. मेरा ये तरीका काम कर रहा था या फिर यूँ कहें कि शायद मेरे हाथ में जादू था और वो अब मेरा साथ दे रही थी.. क्योंकि थी तो वो भी आख़िर एक लड़की.. आखिर कब तक नखरे करती और वैसे भी सेक्स के आगे किसका बस चलता है। उसकी सिसकियों की आवाज़ मेरा भी जोश बढ़ा रही थी। तभी थोड़ी देर उसकी चूत सहलाने के बाद मैंने अपना हाथ उसकी जिन्स के अंदर डाल दिया और अब में उसकी चूत अंदर से दबा रहा था.. लेकिन उसकी चूत बहुत मुलायम थी जो मुझे पागल बनाने के लिए बहुत थी और कुछ देर के बाद में उसकी चूत में उंगली डालने लगा। चूत टाईट थी और क्यों ना हो वो एक पंजाबी थी तो उसकी चूत गोरी, चिकनी भी थी और उसकी चूत पर बालों के नाम पर बस हल्के हल्के रेशे थे.. एकदम गुलाबी होंठो की तरह थी। फिर मैंने अपने होंठ उसकी चूत के होंठ पर रख दिए और अंदर की तरफ से चूसने लगा वो तो शायद अब तक सब कुछ भूल चुकी थी और मजे कर रही थी। मैंने करीब 15 मिनट उसकी चूत को चाटा इस बीच वो 2 बार झड़ चुकी थी और वो मेरे सर को पकड़कर अपनी चूत में दबा रही थी जो मुझे उसके जोश में होने का अहसास दिला रहा था।

उसकी चूत लाल हो चुकी थी और फिर में उठा और उसके होंठ को किस करते हुए चूसने लगा। अब मैंने अपनी पेंट और अंडरवियर उतार दिया और मेरा लंड अब उसके सामने था। तभी उसने उसे पकड़ा और धीरे धीरे दबाने और सहलाने लगी। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या इस पर किस दे सकती हो? तो उसने बिना कुछ कहे मेरे लंड के आगे वाले हिस्से को मुहं में ले लिया और चूसने लगी और हल्के हल्के दाँत से काटने लगी। मेरा हाल तो खराब था में बस कंट्रोल किए हुए था क्योंकि में झड़ना नहीं चाहता था क्योंकि मुझे किसी के मुहं में ये सब करना पसंद नहीं है। में तो पहले से ही तैयार था तो कॉंडम लेकर आया था और उसे मैंने पहन लिया।

Antarvasna Hindi Sex Story  Ajeet Ne Meri Ma Ki Chut Chodi

फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके दोनों पैरो को अपने कंधों पर रखा और अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा.. मैंने अपने लंड पर उसकी चूत का पानी लगाया था जिससे लंड को चूत में जाने में पर ज्यादा दर्द ना हो और में धीरे धीरे लंड को अंदर डालने लगा.. फिर जैसे जैसे मेरा लंड जा रहा था वो ऊपर होती जा रही थी। तभी मैंने देखा कि उसकी चूत से खून नहीं आ रहा है और में समझ गया कि इसकी सील पहले से ही टूटी हुई है। फिर मैंने ज्यादा समय खराब ना करते हुए एक जोर के झटके से लंड अंदर डाल दिया वो जोर से चिल्लाई। तभी मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए और में धीरे धीरे से झटके लगाने लगा मेरे हर झटके के साथ उसे जोश आ रहा था। फिर करीब 15-20 मिनट बाद में उसे और ज़ोर से चोदने लगा और अब में झड़ने वाला था। बहुत जोर जोर के झटको के बाद मेरा वीर्य निकल गया जो मैंने जल्दी से बाथरूम में जाकर साफ किया और फिर लौटकर आया तो वो वैसे ही लेटी हुई थी में उसके पास गया और मैंने उसकी चूत में अपनी दोनों उंगलियां डाल दी और ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगा.. वो भी करीब 2 मिनट के बाद ही झड़ गई।

फिर मैंने उसके बूब्स और होंठो पर किस किया और उसे कपड़े पहनाए और खुद भी कपड़े पहने। तभी मैंने उसे अपनी बाहों में लिया और उससे कहा कि मेरे पास कोई पिक्चर नहीं है और मैंने तुमसे उस दिन झूठ बोला था तो वो मुस्कुरा दी और वो बोली कि मुझे पता था.. में तो बस मजे कर रही थी। फिर मैंने उसे थेंक्स बोला और हंस दिया और मैंने उसे किस किया और में अपने घर पर आ गया ।।