दोस्त की बीवी की मस्त ठुकाई

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम बबलू है। में जयपुर का रहने वाला हूँ और में चोदन डॉट कॉम का का बहुत पुराना पाठक हूँ। मुझे लगा कि मुझे भी अपना अनुभव आप लोगों से शेयर करना चाहिए इसलिए में आप लोगों को आज जो स्टोरी सुनाने वाला हूँ, वो इसी 31 दिसम्बर की है। में 23 साल का जवान लड़का हूँ, मैंने ऐसा सुना है कि में स्मार्ट हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और गोरा भरा हुआ शरीर है, मेरा लंड 7 इंच लंबा और 4 इंच मोटा है। में और शेखर बहुत गहरे दोस्त है, उसकी शादी को 6 महीने ही हुए थे। सुनीता भाभी का फिगर मस्त है, उनका रंग गोरा और होंठ गुलाबी है। मेरे दोस्त की एक शॉप है, इस 31 दिसम्बर पर वो 10 दिनों के लिए बाहर गया हुआ था। फिर में उसके घर गया, तो सुनीता भाभी अकेली थी। सुनीता भाभी बहुत शरारती और सेक्सी है, वो मुझसे हँसी मज़ाक करती है, उस दिन वो अकेली थी।

फिर उन्होंने कहा कि बबलू खाना खा लो और फिर हम मूवी देखेंगे। फिर हमने खाना खाया और फिर हम दोनों साथ में मूवी देखने लगे। जब सुनीता ने लाल कलर की नाइटी पहने हुई थी, वो उसमें बहुत सेक्सी लग रही थी, उसमें उनकी ब्रा साफ-साफ दिख रही थी। फिर उस मूवी में 2-3 लिप किस आए, तो मेरी नजर उनके ऊपर गई, तो वो मुझे देखकर शर्मा गई। अब ये देखकर तो मेरा लंड खड़ा हो चुका था। अब हम दोनों एक ही बिस्तर पर बैठे थे। अब रात के करीब 11 बजे थे, तो मैंने कहा कि में जा रहा हूँ। तो वो बोली कि आप यहीं पर सो जाओ। अब मेरी तो मुराद पूरी हो रही थी, में आज पूरी रात उसको चोदना चाहता था। फिर में वहीं पर सो गया और वो मूवी ख़त्म होने के बाद वो भी उसी बिस्तर पर सो गई।

फिर मेरा हाथ उनके बूब्स पर लग गया, तो वो कुछ नहीं बोली। फिर मैंने हिम्मत करके उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए, तो वो भी मेरा साथ देने लगी। फिर वो मेरे ऊपर आ गई, तो उसके बूब्स मेरे सीने से दबने लगे, तो मेरा लंड तन गया। फिर उसने धीरे-धीरे मेरे सारे कपड़े उतार दिए। अब में सिर्फ़ अंडरवियर में हो गया था। फिर मैंने भी सबसे पहले उसकी साड़ी उतार दी। अब वो ब्लाउज और पेटीकोट में हो गई थी। फिर मैंने थोड़ी देर तक उसके बूब्स दबाए और फिर उसका ब्लाउज और पेटिकोट भी उतार दिया। अब वो सिर्फ पिंक ब्रा और पेंटी में गजब की सेक्सी लग रही थी। फिर उसने मुझे नंगा कर दिया और फिर मैंने भी उसकी ब्रा और पेंटी उतार दी। अब लाईट की रोशनी में उसका पूरा बदन चमक रहा था। फिर हम दोनों एक-दूसरे को चूमने-चाटने लगे। अब में उसके 36 साईज के बूब्स को चूस रहा था। अब उसका एक बूब्स मेरे मुँह में था और दूसरा मेरे हाथ में था।

Antarvasna Hindi Sex Story  मौसी की लड़की की गांड फाड़ी

अब वो मेरे लंड को सहला रही थी। फिर हमने करीब 1 घंटे तक चूमा चाटी की। फिर उसने मेरा पूरा बदन चूमा और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। फिर उसने मेरे लंड को बहुत देर तक चूसा और मेरा सारा जूस पी गई। उसकी चूत एकदम साफ थी, उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था। फिर मैंने उसके दोनों पैरों को फैलाया और फिर में भी उसकी चूत को चूसने लगा, तो 10 मिनट के बाद उसने अपना पानी छोड़ दिया। फिर हम दोनों 69 की पोज़िशन में हो गये, तो थोड़ी ही देर में मेरा लंड फिर से तन गया। फिर वो कहने लगी कि मेरे पति का लंड तो केवल 5 इंच लम्बा और 2 इंच मोटा ही है, उसमें मुझे मज़ा नहीं आता है, बबलू मुझे आपका लंड बहुत पसंद आया, प्लीज जल्दी करो, अब में और नहीं रुक सकती हूँ, प्लीज मुझे जल्दी से चोद डालो। फिर मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगाया और उसके दोनों पैरो को फैला दिया। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर रखा, तो उसकी चूत का छेद पूरा खुल चुका था। फिर मैंने धीरे से अपने लंड को दबाया, तो उसके मुँह से चीख निकली आाआआईईईईईई, मार डाला, प्लीज बबलू धीरे करो ना। फिर मैंने उसके बूब्स को चूसना शुरू कर दिया और थोड़ी देर तक ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा और उसे पकड़कर 3-4 धक्के मारे और अपना लंड पूरा का पूरा डाल दिया तो वो रोने लगी और अब उसकी खून की पिचकारी से मेरा लंड रंग चुका था और वो इतनी तेज चीखी माँ मार डाला, देव पूरी फट गई है। तो मैंने बोला कि कोई बात नहीं डार्लिंग और फिर में उसके बूब्स और होंठो को चूसने लगा तो फिर वो धीरे-धीरे शांत हो गई। फिर उसने पूछा कि कितना अंदर गया? तो मैंने बोला कि पूरा डाल दिया और फिर मैंने फिर से धक्के देना शुरू कर दिया।

Antarvasna Hindi Sex Story  मम्मी की मस्त चुदाई अहमदाबाद में

अब उसका दर्द बढ़ रहा था और धीरे-धीरे धक्के देते-देते तेज हो गया था। अब मैंने अपनी थोड़ी सी स्पीड बढ़ा दी थी। अब मेरी स्पीड से वो सिसकियाँ भर रही थी सस्स्स्स्सस्स्शह देव मज़ा आ रहा है, आज आपने मेरी चूत फाड़ दी है। अब धीरे-धीरे उसे भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी अपनी गांड नीचे से उछाल-उछालकर चुवाने लगी थी। फिर वो 10 मिनट में ही झड़ गई और अब मुझे उसे चोदने में बहुत मज़ा आ रहा था और फिर थोड़ी देर में वो फिर से झड़ गई। अब इस तरह से 30 मिनट में वो 4 बार झड़ चुकी थी। फिर मैंने उससे पूछा कि कैसा लग रहा है? तो उसने कहा कि बहुत मज़ा आ रहा है, ऐसा मज़ा तो मुझे मेरे पति ने कभी नहीं दिया था। फिर थोड़ी देर तक चोदने के बाद में बोला कि मेरा पानी निकल रहा है, तो उसने कहा कि मेरी चूत भर दो देव और फिर मैंने अपना सारा पानी उसकी चूत में ही डाल दिया और फिर हम दोनों इसी तरह लेटे रहे। फिर में उठा और बाथरूम में जाकर अपना लंड साफ किया, लेकिन अब सुनीता नहीं उठ पा रही थी क्योंकि उसे चलने में तकलीफ हो रही थी। फिर में उसे उठाकर बाथरूम में ले गया और उसकी चूत को साफ किया।

फिर हम दोनों थोड़ी देर तक ऐसे ही नंगे लेटे रहे। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसे चूमना, चाटना शुरू कर दिया, तो वो भी तैयार हो गई। फिर हम दोनों फिर से 69 पोज़िशन में हो गये और वो थोड़ी ही देर में झड़ गई। फिर मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदना शुरू कर दिया। अब मैंने इस बार एक ही धक्के में अपना पूरा का पूरा लंड डाल दिया था। फिर उसके मुँह से ज़ोर से चीख निकल गई आईईईईईईईईईईईईई, माँ मार डाला देव, आह में मर गई, उूउउइईईईईईईई, माँ माआआआआअर डाला। फिर मैनें उसके बूब्स को पकड़ा और ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगा, तो उसे फिर से मज़ा आने लगा। फिर 15 मिनट तक चोदने के बाद मैंने उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया, तो वो ज़ोर से चीखी आाआआईईईईईईईई माँ मार डाला, आह में मर गई, प्लीज देव बाहर निकालो। फिर मैंने उसकी एक नहीं सुनी और बिना रुके धक्के मारता ही गया तो थोड़ी देर में वो शांत हो गई।

Antarvasna Hindi Sex Story  बॉस की बीवी लंड की प्यासी

फिर मैंने उससे पूछा कि कैसा लग रहा है? तो उसने कहा कि बहुत मज़ा आ रहा है। फिर इस तरह से मैंने उसकी गांड और चूत दोनों मारी और मेरे लंड का पूरा पानी फिर से उसकी चूत में ही छोड़ दिया। फिर इस तरह से मैंने उसे रात में 4 बार चोदा और 2 बार उसकी गांड भी मारी। फिर उसने सुबह फिर से मेरे ऊपर बैठकर मेरा लंड अपनी चूत के अंदर ले लिया, लेकिन वो ठीक से ले नहीं पा रही थी क्योंकि उसे थोड़ा–थोड़ा दर्द हो रहा था। फिर मैंने उसकी चूत पर धक्के लगाने शुरू कर दिए, तो वो जोर-जोर से सिसकियाँ लेने लगी सस्स्स्स्स, हाईईईईईईईईई, इसस्सस्स, उफ़फ्फ क्या लंड है? देव काश मैंने तुमसे शादी की होती, उईईई माँ मार डाला देव और ज़ोर से चोदो मुझे और फिर इस तरह से चोदते-चोदते मैंने मेरा पानी उसकी चूत में ही डाल दिया। अब वो खाना बना रही थी, तो मैंने उसे फिर से नंगा कर दिया। फिर मैंने उसे किचन पट्टी पर बैठाया और उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रखे और उसकी चूत में अपना पूरा लंड डाल दिया। फिर 30-40 मिनट तक चोदने के बाद हमने एक साथ ब्लू फिल्म देखी और फिर हमने दिनभर में 6-7 बार चुदाई की। फिर तभी वो बोली कि आज तुमने मुझे वो मज़ा दिया है जिसके सपने मैंने बचपन से देखे थे, आई लव यू बबलू। फिर इस तरह से मैंने उसे 10 दिन तक चोदा, अब उसके बाद मेरा दोस्त आ गया था। फिर उसके बाद मौका मिलने पर हम दोनों खूब मजा करते है ।।

धन्यवाद …